सुप्रीम कोर्ट में सहारा संपत्ति की नीलामी

सुप्रीम कोर्ट में सहारा संपत्ति की नीलामी

गोरखपुर की ज़मीन के लिए लगी 150 करोड़ की बोली

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट सोमवार को उस समय पर ऑक्शन रूम में तब्दील हो गया, जिस वक्त सहारा ग्रुप की 140 एकड़ की जमीन पर बोली लगनी शुरू हो गई। सहारा समूह की गोरखपुर में 140 एकड़ जमीन पर 150 करोड़ रूपए की बोली लगी। सहारा की जमीन को लेकर बढ़ चढ़कर बोली लगी। एक घंटे तक चली सुनवाई के दौरान सहारा की इस जमीन के लिए 86 करोड़ रूपए ज्यादा की बोली लगी, लेकिन अभी ये रकम अंतिम नहीं है। माना जा रहा है कि तीन अगस्त को होने वाली अगली सुनवाई में ये राशि और बढ़ सकती है।

मिली जानकारी के अनुसार सहारा समूह की जमीन पर 110 करोड़ रूपए से बोली लगनी शुरू हुई और दो रियल एस्टेट कंपनियों ने बढ़ चढ़कर बोली लगाई, लेकिन जैसे ही बोली 150 करोड़ रूपए पर पहुंची तो जज ने कंपनियों को बोली लगाने से रोक दिया। चार मार्च 2014 से दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद सहारा प्रमुख सुब्रत रॉय की जमानत के लिए सहारा समूह संपत्ति बेचकर रकम जुटाने में लगा है। इसी के चलते गोरखपुर की सहारा समूह की संपत्ति को बेचा जा रहा है।

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने सहारा प्रमुख सुब्रता रॉय को बेल तो दे दी थी, लेकिन उनकी रिहाई पर शर्ते लगा दीं। सुप्रीम कोर्ट के मुताबिक रॉय को जेल से तब ही रिहा किया जाएगा जब तक सहारा समूह 10000 करोड़ रूपए जमा नहीं कर देगा। इसके साथ ही रिहाई के बाद रॉय को बाकी की रकम सेबी को 18 महीने में 9 किश्तों में जमा करनी होगी। सहारा समूह को सुप्रीम कोर्ट ने 18 महीनों में कुल 36000 करोड़ रूपए चुकाने को कहा था।