सेरेना ने छठी बार जीता  विम्बलडन का ख़िताब

सेरेना ने छठी बार जीता विम्बलडन का ख़िताब

नई दिल्ली: टेनिस कोर्ट पर क़रीब 18 साल से अपना दबदबा कायम रखते हुए सेरेना विलियम्स ने एक बार फिर विम्बलडन के ग्रास कोर्ट पर दिखा दिया कि अब भी दुनिया में उनसे बेहतर कोई महिला टेनिस खिलाड़ी नहीं।

सेरेना ने स्पेन की गारबिन मुगुरुज़ा को 6-4, 6-4 से हराकर छठी बार विम्बलडन का ख़िताब अपने नाम कर लिया। पहली बार ग्रैंड स्लैम फ़ाइनल खेल रही मुगुरुज़ा को एक घंटा 22 मिनट में हराकर सेरेना ने सिंगल्स का 21वां ग्रैंड स्लैम ख़िताब अपने नाम किया।

ऑस्ट्रेलिया की मारग्रेट कोर्ट के नाम 24 ग्रैंड स्लैम ख़िताब और जर्मनी की स्टेफ़ी ग्राफ़ के नाम 22 ग्रैंड स्लैम ख़िताब है। सेरेना अपने 24वें ग्रैंड स्लैम ख़िताब के बेहद क़रीब पहुंचती नज़र आ रही हैं। सेरेना ने जीत के बाद बताया कि जब वह चोटिल थीं और उन्हें नहीं लगता था कि वह फिर कभी ग्रैंड स्लैम का फ़ाइनल खेल पाएंगी।

सेरेना, ओपन एरा में ग्रैंड स्लैम का ख़िताब जीतने वाली सबसे उम्रदराज खिलाड़ी हैं। जीत के बाद 33 साल की सेरेना ने कहा कि उन्हें कोर्ट पर बहुत मज़ा आ रहा है। उन्हें खेलने में हर रोज़ आनंद होता है और विम्बलडन जीतना उनके लिए मज़ेदार है। उन्होंने मुगुरुज़ा की तारीफ़ करते हुए कहा कि जब स्पेनिश खिलाड़ी ने बेहतर खेल दिखाना शुरू किया तो उन्हें लगा कि उन्हें वाकई ज़्यादा मेहनत करनी होगी।

पिछले साल यूएस ओपन के साथ इस साल ऑस्ट्रेलियन ओपन, फ़्रेंच ओपन के विम्बलडन का ख़िताब जीत चुकी सेरेना लगातार टेनिस कोर्ट पर इतिहास बना रही हैं।