गहराया ग्रीस संकट, कई अखबार हुए बंद

गहराया ग्रीस संकट, कई अखबार हुए बंद

90 हजार लोगों ने देश छोड़ा

एथेंस। यूनान में दो हफ्ते से बैंक बंद हैं और अगले सोमवार तक बंद ही रहेंगे। इसका असर अब अखबारों पर भी दिखने लगा है। भुगतान नहीं हो पाने की चिंता से यहां सप्लायर्स ने अखबारों को कागज देने से इनकार कर दिया है। वहीं बिगड़ती अर्थव्यवस्था को देखते हुए सुनहरे भविष्य के लिए करीब 90 हजार लोगों ने देश छोड़ दिया है। यह संख्या ग्रीस की आबादी का कुल एक फीसदी है।

वहीं आर्थिक संकट के चलते कुछ अखबारों ने प्रकाशन रोक दिया है। जिनके पास स्टॉक बचा है, वे पेजों की संख्या कम करके अखबार निकाल रहे हैं। यदि सोमवार तक बैंक नहीं खुले तो अखबार नहीं छप पाएंगे।

यूनान के लेस्वोस आईसलैंड से प्रकाशित होने वाले प्रमुख अखबार "एम्प्रोस डेली" ने प्रकाशन रोक दिया है। अखबार के चीफ एग्जीक्यूटिव मनोलिस मनोलास का कहना है कि कागज खत्म हो चुका है।

जब तक बैंक नहीं खुलते हम अखबार नहीं छाप पाएंगे, क्योंकि बैंक से राशि निकालकर सप्लायर्स को देने पर ही कागज मिल पाएगा।

मनोलास के मुताबिक आप यदि विदेश से भी कागज मंगाते हैं तो भी उसके लिए बैकिंग ट्रांजेक्शन की जरूरत होगी, पर यहां बैंक बंद हैं, ऎसे में आप कुछ नहीं कर सकते।