फडणवीस के एक और मंत्री को बिना ई-टेंडरिंग 191 करोड़ का ठेका

फडणवीस के एक और मंत्री को बिना ई-टेंडरिंग 191 करोड़ का ठेका

मुम्बई: पंकजा मुंडे के बाद महाराष्ट्र के एक अन्य मंत्री विनोद तावडे को 191 करोड़ रूपये के ठेके को मंजूरी देने के मामले में अनियमितता के आरोपों का सामना करना पड़ रहा है। बहरहाल, तावडे ने आज संवाददाताओं से कहा कि निर्णय करने की प्रक्रिया में कोई अनियमितता नहीं हुई।

उन्होंने कहा, ‘एक भी रूपये का भुगतान किसी ठेकेदार को नहीं किया गया। जब वित्त विभाग ने आपत्ति व्यक्त की तब हमने तत्काल आर्डर को रोक दिया।’ पंकजा मुंडे पर जहां 206 करोड़ रूपये के ठेके को मंजूरी देने में भ्रष्टाचार के आरोप लग रहे हैं, वहीं शिक्षा मंत्री विनोद तावडे को उनके द्वारा ठेके को मंजूरी देने में अनियमितता के आरोपों का सामना करना पड़ रहा है। वित्त विभाग ने विनोद तावडे के स्कूली शिक्षा विभाग द्वारा बिना ई निविदा जारी किये 191 करोड़ रूपये के ठेके को मंजूरी देने के मामले में कथित अनियमितता के आरोपों की जांच की मांग की है।

वित्त विभाग द्वारा आपत्ति व्यक्त किये जाने के बाद तावडे द्वारा मंजूर किये गए ठेके को रोक दिया गया। यह मामला महाराष्ट्र के 62,105 जिला परिषद स्कूलों में अग्निशमन यंत्र की आपूर्ति से संबंधित है। उल्लेखनीय है कि 11 फरवरी को विभाग ने एक सरकारी प्रस्ताव जारी किया था जिसमें शिक्षा निदेशक प्राथमिक कार्यालय को अग्निशमन यंत्र की आपूर्ति के लिए दर तय करने का अनुबंध करने के लिए अधिकृत किया था। प्रत्येक अग्निशमन यंत्र 8321 रूपये में खरीदा जाना था और प्रत्येक स्कूल को ऐसे तीन यंत्र प्रदान किये जाने थे।

India