'मन की बात' में रक्षा बंधन का ज़िक्र, रमज़ान का क्यों नहीं?

'मन की बात' में रक्षा बंधन का ज़िक्र, रमज़ान का क्यों नहीं?

कांग्रेस ने पीएम मोदी पर लगाया ध्रुवीकरण की राजनीति करने का आरोप

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर ध्रुवीकरण की राजनीति करने का आरोप लगाते हुए कांग्रेस ने रविवार को बड़ा हमला बोला। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और महासचिव ग़ुलाम नबी आज़ाद ने कहा कि ये अच्छी बात है कि प्रधानमंत्री मोदी ने 'मन की बात' में रक्षा बंधन का ज़िक्र किया। देश में 15-20 करोड़ मुसलमान भी रहते हैं और रमज़ान चल रहा है। पीएम इसका भी ज़िक्र कर कहते कि मिल कर ईद मनाएंगे। फिर दिवाली आएगी तो मिल कर दिवाली नाएंगे। क्रिसमस आएगी तो क्रिसमस मनाएंगे। लेकिन पीएम सिर्फ चुनिंदा होकर ध्रुवीकरण करना चाहते हैं।

आज़ाद प्रधानमंत्री मोदी के मन की बात कार्यक्रम में कही गई उस बात ज़िक्र कर रहे थे, जिसमें मोदी ने रक्षा बंधन के मौके पर घर में बरतन धोने वाली या खेतों में काम करने वाली महिला मज़दूरों को जनसुरक्षा योजना तोहफे में देने की बात कर रहे थे। आज़ाद का कहना है कि ये देश की संस्कृति में है कि हिंदू बहन मुसलमान भाइयों को भी राखी बांधती हैं। लेकिन ये मोदी की राजनीति को सूट करता है कि वे सिर्फ एक धर्म को लेकर चलने की बात करें।