आतंकी हमलों से थर्राए ट्यूनीशिया, कुवैत और फ़्रांस, 41 की मौत

आतंकी हमलों से थर्राए ट्यूनीशिया, कुवैत और फ़्रांस, 41 की मौत

ट्यूनीश: ट्यूनीशिया के एक बीच रिसार्ट में शुक्रवार को हुए हमले में एक बंदूकधारी ने विदेशी सैलानियों सहित कम से कम 27 लोगों की हत्या कर दी।

गृह मंत्रालय के एक प्रवक्ता मोहम्मद अली अरौई ने राष्ट्रीय टेलीविजन से कहा कि सौसे में हुई गोलीबारी एक 'आतंकी हमला' था। उन्होंने साथ ही हमलावर को मार गिराया गया है। यह गोलीबारी मध्य ट्यूनिशिया में होटल अल कंतौई के सामने हुई। हालांकि इस संबंध में अभी विस्तृत जानकारी नहीं मिल पाई है।

कुवैत में जुमे की नमाज़ में आत्मघाती हमला, 13 मरे 

कुवैत सिटी: कुवैत सिटी में स्थित एक शिया मस्जिद में जुमे की नमाज के दौरान हुए एक विस्फोट में कम से कम 13 लोगों की मौत हो गई और कई अन्य घायल हो गए हैं। समाचार एजेंसी एएफपी ने सुरक्षा अधिकारियों के हवाले से कहा कि एक आत्मघाती हमलावर ने यह विस्फोट अंजाम दिया।

वहीं चश्मदीदों ने ऐसा ही ब्यौरा देते हुए कि जुमे की नमाज के दौरान एक खुदकुश हमलावर कुवैत सिटी में स्थित अल-ईमाम-अल-सादिक शिया मस्जिद में घुसा और खुद को विस्फोट से उड़ा लिया। चिकित्साकर्मियों का कहना है कि आत्मघाती विस्फोट में 'कम से कम 13 लोगों की मौत हो गई जबकि 25 अन्य अस्पताल में भर्ती हैं।'

उधर, सोशल मीडिया पर जारी एक ब्यान में चरमपंथी समूह इस्लामिक स्टेट ने इस विस्फोट की जिम्मेदारी ली है। सउदी अरब में आईएस से जुड़े समूह नजद प्रॉविंस ने कहा कि आतंकवादी अबु सुलेमान अल मुवाहिद ने मस्जिद पर हमला किया और उसका दावा था कि मस्जिद की ओर से सुन्नी मुस्लिमों के बीच शिया गुट की शिक्षाओं का प्रसार किया जा रहा था। कट्टरपंथी सुन्नी मुस्लिम समूह आईएसआईएस शियाओं को धर्मविरोधी मानता है।

आपको बता दें कि नजद प्रॉविंस ने हाल के सप्ताह के दौरान सउदी अरब की शिया मस्जिदों के खिलाफ हुए इसी तरह के अन्य विस्फोटों की भी जिम्मेदारी ली थी।

फ़्रांस में फैक्ट्री पर हमला, एक व्यक्ति का सिर काटा 

पेरिस : पूर्वी फ्रांस की एक गैस फैक्ट्री में शुक्रवार को दिनदहाड़े कम से कम एक संदिग्ध इस्लामी हमलावर ने एक व्यक्ति की गला काटकर हत्या कर दी, जबकि दो अन्य लोगों को विस्फोटक उपकरणों से घायल कर दिया।

राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद ने ब्रुसेल्स में कहा, 'इरादा निश्चित रूप से विस्फोट करना था। यह एक आतंकी हमला था।' ओलांद फ्रांस की राजधानी में एक आपात बैठक करने के लिए यूरोपीय संघ का एक शिखर सम्मेलन से बीच में ही छोड कर लौट आए।

उन्होंने कहा कि तेज रफ्तार से आता हुआ एक वाहन फैक्ट्री में घुस गया। वाहन में 'एक व्यक्ति सवार था और हो सकता है कि उसके साथ कोई और भी सवार हो।' यह फैक्ट्री फ्रांस के लियोन शहर से करीब 40 किलोमीटर दूर है।

सख्त दिख रहे ओलांद ने कहा, 'इस समय जब मैं बोल रहा हूं, एक व्यक्ति की मौत हुई है और दो घायल हुए हैं।' उन्होंने पीड़ित के लिए 'एकजुटता' दिखाने की मांग की।

गृहमंत्री बर्नार्ड कैजेनभ ने कहा कि 35 साल के हमलावर की पहचान यासिन सल्ही के रूप में हुई है, जिसे सुरक्षा सेवाएं कई साल से जानती थीं, लेकिन उसका कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं था।

गृहमंत्री ने कहा कि हमलावर को हिरासत में ले लिया गया और आतंकवाद रोधी जांच शुरू की गई है। ताजा घटना राजधानी पेरिस और उसके आसपास हुए इस्लामी हमलों के छह महीने बाद सामने आई है।

इससे पहले हुए ऐसे ही आतंकवादी हमले में 17 लोग मारे गए थे और जो व्यंग्यात्मक पत्रिका 'शार्ली हेब्दो' के कार्यालय पर गोलीबारी के साथ शुरू हुए थे।

पिछले कई महीनों से यूरोप 'लोन वुल्फ' हमलों को देखते हुए हाई अलर्ट पर है। 'लोन वुल्फ' हमले उन आतंकी हमलों को कहते हैं जिसे कोई व्यक्ति किसी आतंकी समूह की मदद के बिना अकेले अंजाम देता है। इन हमलों को रोकना बहुत मुश्किल है, क्योंकि इस्लामी चरमपंथी अपने समर्थकों से जहां भी संभव हो हमले करने की अपील करते हैं।

ओलांद ने कहा, 'एक क्षत विक्षत शव बरामद हुआ जिसके पास अरबी भाषा में कुछ लिखा मिला।' हालांकि जांच से जुड़े सूत्रों ने कहा कि इस बात का पता नहीं चला है कि पीड़ित को घटनास्थल पर लाया गया या फैक्ट्री की जगह पर उसका सिर काटा गया।'