नक़ली नोटों का कारोबार करने वाले गिरोह का भंडा फोड़

नक़ली नोटों का कारोबार करने वाले गिरोह का भंडा फोड़

दो लाख 35 हजार रुपये के जाली नोट बरामद

लखनऊ। फैजाबाद में नकली नोट को खपाने वाले गिरोह का पुलिस ने भंडाफोड़ किया है। गोंडा के इस गिरोह के चार सदस्यों को गिरफ्तार कर क्राइम ब्रांच ने दो लाख 35 हजार रुपये के जाली नोट बरामद किए हैं। गिरोह को नकली नोट आपूर्ति करने वाले तस्कर को पुलिस अभी नहीं पकड़ सकी है। 

बीती रात फैजाबाद की कैंट पुलिस व क्राइम ब्रांच की संयुक्त कार्रवाई में फैजाबाद-लखनऊ राष्ट्रीय राजमार्ग पर ताजपुर कोडऱा के पास चार लोगों को नकली नोटों के साथ गिरफ्तार किया गया। पकड़े गए लोगों में बलराम के अतिरिक्त गोंडा के दत्तनगर नवाबगंज निवासी निक्कू जायसवाल, अंबेडकरनगर के घूरहूपुर मालीपुर निवासी राजेश चौहान व रौनाही थाना क्षेत्र के तहसीनपुर निवासी फूलचंद शामिल हैं। आरोपियों ने बताया कि अभी तक वे साढ़े तीन लाख रुपये से अधिक के जाली नोट फैजाबाद में खपा चुके हैं। गिरोह ने अंबेडकरनगर, बाराबंकी, गोंडा, सुलतानपुर में भी नकली नोटों की खेप पहुंचाई है। बलराम का भाई विजय चंड़ीगढ़ में पनीर बेचने का काम करता है। वही थोक में जाली नोट लाकर बलराम को देता था तथा बलराम उसे अपने मददगारों में सप्लाई करता था। पकड़े गए लोगों के पास से एक बाइक, पांच मोबाइल सेट बरामद हुए है। नोटों की बनावट हूबहू असली नोटों की भांति थी। जाली नोट के तस्करों को पकडऩे के लिए एसएसपी ने पुलिस टीम के सदस्यों को दस हजार रुपये पुरस्कार देने की घोषणा की है।

गिरफ्तार अभियुक्तों के कब्जे से 1000 रूपये के 235 नकली नोट कुल 02 लाख 35 हजार रूपये, 05 मोबाइल फोन व दो मोटर साइकिलें बरामद हुई हैं ।

Lucknow, Uttar Pradesh, India