आज़म की भैंसों के चोरों को पकड़ना यूपी पुलिस की बड़ी उपलब्धि: हिलाल नक़वी

आज़म की भैंसों के चोरों को पकड़ना यूपी पुलिस की बड़ी उपलब्धि: हिलाल नक़वी

लखनऊ: समाजवादी पार्टी सरकार के कैबिनेट मंत्री मो0 आजम खान की भैंसों के चोरों को अंततः डेढ़ साल पश्चात उ0प्र0 पुलिस ने पकड़ ही लिया। निश्चित रूप से उ0प्र0 पुलिस की एक बड़ी उपलब्धि है क्योंकि जघन्य अपराध जैसे लूट, डकैती, बलात्कार, कैश वैन एवं ए.टी.एम. को लूटने आदि मामले तो प्रदेश सरकार के दलालों द्वारा निपटा लिये जाते हैं जिसका एक अभूतपूर्व उदाहरण पत्रकार स्व0 जगेन्द्र सिंह की हत्या का मामला है जिसको ऐन-केन-प्रकारेण उ0प्र0 सरकार ने दबा दिया। अब उ0प्र0 की पुलिस भाजपा विधायक श्री धर्मपाल सिंह की 9 भैंसों की चोरी के लिए तत्परता से लगी है न केवल 3 थानों के इंचार्ज बल्कि एस.पी. स्वयं भी इन भैंसों की खोज में जुटे हुए हैं। शायद उ0प्र0 की पुलिस अब इसी प्रकार के मामलों को हल करने के लायक रह गयी है क्योंकि शैलेन्द्र अग्रवाल जैसे दलाल जब पुलिस विभाग में पोस्टिंग और पदोन्नति जैसे कार्य देखेंगे तो निश्चित रूप से उ0प्र0 की पुलिस का न तो इकबाल रहेगा और न ही वह किसी प्रकार की अपराधिक गतिवधियों को रोकने में सफल होगी।

उ0प्र0 कंाग्रेस ने आरोप लगाया है कि समाजवादी पार्टी की सरकार उ0प्र0 में एक स्थायी पुलिस महानिदेशक देने में अक्षम है। समाजवादी पार्टी सरकार द्वारा नियुक्त किये गये पूर्व पुलिस महानिदेशक ए.एल. बनर्जी तथा ए.सी. शर्मा जिस तरह से पुलिस विभाग में पदोन्नति एवं ट्रान्सफर-पोस्टिंग की दलाली में नामांकित हैं इससे यह स्पष्ट होता है कि प्रदेश सरकार किस प्रकार के पुलिस महानिदेशक बनाना चाहती है। यही कारण है कि प्रदेश की राजधानी लखनऊ में आये दिन एटीएम कैश वैन को लूटकर सरेआम तीन-तीन हत्याएं हो जाती हैं परन्तु पुलिस आज तक किसी भी मामले में अपराधियों को पकड़ने में सफल नहीं हुई है। 

वर्तमान पुलिस महानिदेशक श्री ए.के. जैन के विरूद्ध प्रो0 रीता बहुगुणा जोशी के घर जलाने के प्रकरण के सम्बन्ध में मुकदमा चलाने के लिए अभियोजन पक्ष ने सरकार से अनुमति मांगी है और ऐसे पुलिस महानिदेशक के सेवा विस्तार के लिए उ0प्र0 सरकार कमर कसे हुए है। उच्च पदों पर अक्षम लोग बैठा दिये गये हैं जो प्रदेश में अपने प्रशासनिक कार्यों में नहीं बल्कि अन्य कार्यों में निपुणता रखते हैं। यही कारण है कि उ0प्र0 की कानून व्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्त हो चुकी है। पुलिस और सरकार का इकबाल समाप्त हो चुका है। जिस प्रकार से आलमबाग में चालीस राउण्ड भीड़ भरी सड़क पर गुण्डों ने फायरिंग की है वह  इस बात का सबूत है कि प्रदेश में पूर्णतया गुण्डाराज स्थापित हो चुका है और इसकी सम्पूर्ण जिम्मेदार उ0प्र0 की समाजवादी पार्टी सरकार है।

Lucknow, Uttar Pradesh, India