फ़र्ज़ी डिग्री विवाद: स्मृति ईरानी को लगा झटका

फ़र्ज़ी डिग्री विवाद: स्मृति ईरानी को लगा झटका

मामले सुनवाई के लिए कोर्ट तैयार तैयार, सुनवाई 28 अगस्त को 

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को बड़ा झटका लगा है। दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट फर्जी डिग्री मामले सुनवाई के लिए तैयार हो गई है। इस मामले की अगली सुनवाई 28 अगस्त को होगी। गौरतलब है कि स्मृति के खिलाफ अहमर खान नाम के एक शख्स ने शिकायत की थी, उन्होंने आरोप लगाया था, कि स्मृति ने लोकसभा और राज्यसभा के चुनाव के लिए नामांकन पत्र दाखिल करते समय चुनाव आयोग के समक्ष तीन हलफनामे पेश किये थे, जिनमें उन्होंने अपनी शैक्षणिक योग्यता के बारे में अलग-अलग ब्योरा दिया।

कोर्ट ने अहमर की अर्जी स्वीकार करते हुए ये माना है कि ये मामला सुनवाई करने के लायक है। कोर्ट ने याचिकाकर्तो को निर्देश दिय़ा है कि वो साबित करे कि स्मृति की डिग्री फर्जी है।

शिकायत में आरोप लगाया गया है कि 16 अप्रैल 2014 को उत्तर प्रदेश की अमेठी सीट से लोकसभा चुनाव के लिए नामांकन के संबंध में अपने हलफनामे में स्मृति ईरानी ने कहा था कि उन्होंने डीयू के स्कूल ऑफ ओपन लर्निंग से बैचलर ऑफ कॉमर्स पार्ट 1 पूरा किया है। इसमें आरोप लगाया गया है कि स्मृति ईरानी द्वारा पेश हलफनामे की विषय वस्तु से स्पष्ट है कि उनकी ओर से शैक्षणिक योग्यता के बारे में केवल एक शपथ ही सही है।

शिकायत में दावा किया गया है, स्मृति ईरानी के उक्त हलफनामों में अपनी शैक्षणिक योग्यता के बारे में गलत और आलग-अलग बयान दिया, ऐसा प्रतीत होता है कि अपने स्वामित्व की अचल सम्पत्ति एवं अन्य ब्यौरे के बारे में गलत या भिन्न बयान दिया।

India