कानून व्यवस्था पर भाजपा ने अखिलेश सरकार को घेरा

कानून व्यवस्था पर भाजपा ने अखिलेश सरकार को घेरा

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी ने कहा कि प्रदेश की कानून व्यवस्था पर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का गैर जिम्मेदाराना रवैया आम जन पर भारी पड़ रहा है। प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक ने कहा राज्य में बैंक एटीएम खतरे में है, बेखौफ लूटेरे लूट के लिए इन्हे ही मुफीद मान रहे है। राज्य में कानून व्यवस्था के हालात यह है कि राजधानी लखनऊ में सर्वोच्च सत्ता की नाक के नीचे हुए एटीएम लूट काण्ड पर मुख्यमंत्री के 15 दिने में खुलासे के आश्वासन के बाद भी पुलिस लूटकाण्ड का खुलासा न कर सकी, लेकिन राज्य की यही पुलिस लगभग सवा साल पहले राज्य के कद्दावर मंत्री की चोरी गयी भैसों के 3 अपराधियों को गिरफ्तार कर अपनी पीठ थपथपा रही हैं।

पार्टी के राज्य मुख्यालय पर मंगलवार को कानून व्यवस्था पर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए प्रदेश प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक ने कहा कि मुख्यमंत्री कानून व्यवस्था जैसे मुद्दे पर चर्चा और टिप्पणी नहीं करना चाहते। राज्य सत्ता के गठन के दिन से ही राज्य की कानून व्यवस्था को पट्री पर लाना उनके लिए सबसे बड़ी चुनौती थी, क्योंकि जैसे ही परिणामों में समाजवादी पार्टी के विजय के समाचार आये उसके बाद राज्य में अपराधी और अराजक तत्वों की सक्रियता अचानक बढ़ी। शपथ लेते ही अखिलेश यादव ने राज्य की कानून व्यवस्था को पट्री पर लाने की प्राथमिकता जताते हुए कहा था कि कानून व्यवस्था और बिजली उनकी प्राथमिकता में होगी, किन्तु दोनों ही मामलों में अपनी नीतियों के कारण पूरी सपा सरकार फेल है।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव लूट के जिन मामलों को चर्चा और टिप्पणी लायक नहीं समझते वे ही मामले सरकार की छवि पर बट्टा लगा रहे है। प्रदेश भर की तो छोड़ दीजिए राजधानी लखनऊ के हालात पर हम यदि नजर डाले तो चाहे फरवरी में हुई सिक्योरिटी एजेन्सी के तीन कर्मचारियों की हत्या कर 51 लाख की लूट का मामला रहा हो अथवा बर्लिगटन के पास हुई 1.33 करोड़ की लूट का मामला क्या हुआ ? राजभवन के पास हुई लूट के मामले पर तो पुलिस सवालों के घेरे में है। राज्य में बेखौफ अराजक तत्वों के हौसले इतने बढ़ गए है कि पुलिस चैकी के पास जमीन कब्जे को लेकर कई राउण्ड गोलियां चलाते है, ये घटनाऐं बत्ती सवार लोग कर रहे है, कहां है कानून का राज ? इतनी घटनाऐं महज राजधानी में हो रही है, फिर भी मुख्यमंत्री कहते है कि चर्चा और टिप्पणी नहीं करना चाहते है।

श्री पाठक ने कहा मुख्यमंत्री जी कानून व्यवस्था पर चर्चा भी करिये और टिप्पणी भी, क्योंकि आप की इसी लापरवाही का खामियाजा प्रदेश की जनता भुगत रही है। आप राजधानी लखनऊ में भी महीनों बीत जाने पर भी एस.एस.पी. तैनात करने में पिछ़ड जाते है। आप 15 दिन का समय देते है और घटना का खुलासा महीनों बीत जाने पर नहीं होता आप न्याय का भरोसा दिलाते है, पर शाहजहांपुर में जगेन्द्र हत्या काण्ड में आज तक 120 बी के आरोपी मंत्री से आप की पुलिस पुछताछ तक नहीं कर पाती।

Lucknow, Uttar Pradesh, India