हमारा रोजा भी विरोध का रूप है: शबी फातिमा

हमारा रोजा भी विरोध का रूप है: शबी फातिमा

लखनऊ:शिया वक्फ बोर्ड में फैले भ्रष्टाचार, वसीम रिजवी की नियुक्ति और सरकार की नाइंसाफियों के खिलाफ 25 वें दिन भी महिलाओं का विरोध धरना जारी रहा । मुसलिम महिला जागरूक मंच की अध्यक्ष शबी फातिमा ने कहा कि जो लोग यह अफवाहें फैला रहे हैं कि हम रमजान में रोजा नहीं रख रहे हैं वे झूठे हैं और हम पर आरोप लगा  रहे हैं क्योंकि कुछ लोग केवल आंदोलन को नुकसान पहुँचाने के लिए काम कर रहे हैं । रमजान मुबारक के सम्मान में हम रोजे से रख रहे हैं और केवल पानी और खजूर से इफतार करते हैं यानि हमारा रोजा भी एक विरोध बन गया है। सरकार के खिलाफ हमारा विरोध जारी है और मांग पूरी होने तक जारी रहेगा।

उधर बड़े इमामबाड़े पर संगठनों का धरना 18 वें दिन भी जारी रहा । आज संगठन निदाए अजा और संगठन तन्जीमे हैदरी धरने पर बैठी हैं कल 23 जून को अन्जुमने मासुमिया हुसेनिया और संगठन अत्फाले अब्बासिया धरने पर बैठें गी। इस दौरान दोनों इमाम बाड़ों पर ताला बंदी चली । अनजुमनों ने कहा कि जब तक हमारी मांगों पूरे नहीं होती धरना और इमाम बाड़ों पर ताला बंदी जारी रहेगी चाहे परिणाम जो हो।

 
Lucknow, Uttar Pradesh, India