बांग्लादेश के हाथों टीम इंडिया की शर्मनाक शिकस्त

बांग्लादेश के हाथों टीम इंडिया की शर्मनाक शिकस्त

मीरपुर : बांग्‍लादेश के 307 रन के जवाब में भारत मात्र 228 रन पर ही सिमट गया. टेस्ट सीरिज ड्रा होने के बाद उम्मीद थी की भारत वनडे में इसका बदला लेगा लेकिन भारत के एक के बाद एक खिलाड़ी कम रन बनाकर वापस लौट गये. हालांकि अश्विन ने अच्छी गेंदबाजी की. भारत की शुरुआत अच्छी रही लेकिन किसी की जोड़ी टिक नहीं पायी. भारत की टीम 46 ओवर ही खेल पायी. बांग्लादेश ने शानदार गेंदबाजी की और भारत को शिकस्त दी. 

शिखर धवन, विराट कोहली, रोहित शर्मा, अजिंक्‍य रहाणे और अब महेंद्र सिंह धौनी आउट होकर पवेलियन लौट गये हैं. धवन 38 गेंद पर 30 रन बनाये,कोहली मात्र 1 रन, रोहित शर्मा 63 रन और रहाणे मात्र 9 रन पर पवेलियन लौटे.

कोहली का विकेट तस्किन अहमद ने ली. लक्ष्‍य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया की शुरुआत काफी धीमा रहा.  रोहित शर्मा और शिखर धवन ने संभल कर बल्‍लेबाजी की. लेकिन तस्किन अहमद के ओवर में धवन आउट हो गये. रोहित शर्मा ने अपना 26वां अर्धशतक पूरा किया. भारत की ओर से सबसे अधिक रन रोहित शर्मा ने बनाये.

शीर्ष क्रम के तीन बल्लेबाजों की अर्धशतकीय पारियों की मदद से बांग्लादेश ने भारत के खिलाफ पहले एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में आज यहां बारिश से प्रभावित उतार चढाव वाली अपनी पारी में 49.4 ओवर में 307 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर खड़ा किया.

बांग्लादेश ने अच्छी शुरुआत के बाद बीच में तीन विकेट गंवा दिये थे लेकिन उसकी टीम ने दिखाया कि वह अब पहले जैसी नहीं है जो दबाव में बिखर जाती थी. भारतीय गेंदबाजों ने हालांकि आखिरी सात ओवरों में पांच विकेट लिये लेकिन वे बांग्लादेश को 300 रन के पार पहुंचने से नहीं रोक पाये.  

बांग्लादेश की सलामी जोड़ी तमीम इकबाल (60) और सौम्या सरकार (54) ने पहले विकेट के लिये केवल 13.4 ओवर में 102 रन की साझेदारी करके कप्तान मशरेफी मुर्तजा के टास जीतकर पहले बल्लेबाजी के फैसले को सही साबित किया. बीच में बारिश के व्यवधान ने डाला जिसके बाद बांग्लादेश ने 23 रन के अंदर तीन विकेट गंवा दिये थे. लेकिन शाकिब (52), शब्बीर रहमान (41) और नासिर हुसैन (34) ने बांग्लादेश को बैकफुट पर नहीं जाने दिया. शाकिब और शब्बीर ने पांचवें विकेट के लिये 83 रन की साझेदारी की.

भारतीय तेज गेंदबाज शुरु में सही लाइन और लेंथ से गेंदबाजी करने में नाकाम रहे. ऐसे में सुरेश रैना कप्तान महेंद्र सिंह धौनी के भरोसे पर खरा उतरे. उन्होंने अपने करियर में चौथी बार अपने कोटे के सभी ओवर पूरे किये और दस ओवर में केवल 40 रन दिये. अश्विन हालांकि भारत के सबसे सफल गेंदबाज रहे. उन्होंने 51 रन देकर तीन विकेट लिये. भुवनेश्वर कुमार और उमेश यादव ने दो-दो विकेट हासिल किये.

बांग्लादेश की सलामी जोड़ी ने गेंदबाजों पर हावी होने की रणनीति अपनायी जिसमें वह काफी हद तक कामयाब भी रहे. भारतीय टीम इस दौरान पूरी तरह से बैकफुट पर दिखी लेकिन बारिश के कारण बीच में लगभग एक घंटे तक खेल नहीं हो पाया और इसके बाद अचानक कहानी बदलती नजर आयी.

बारिश से पहले सरकार का विकेट गंवाने के बावजूद बांग्लादेश मजबूत स्थिति में दिख रहा लेकिन इसके बाद उसने जल्द ही तीन विकेट गंवा दिये. इनमें तमीम भी शामिल थे जिन्होंने इससे पहले भारतीय तेज गेंदबाजों विशेषकर उमेश को खास निशाने पर रखा था. उन्होंने यादव के एक ओवर में तीन चौकों और एक छक्के की मदद से 18 रन बटोरे थे.

अश्विन ने बांग्लादेश पर यह कहर बरपाया था. बारिश से तमीम की एकाग्रता भंग हो गयी और उन्होंने इसके बाद केवल एक रन जोडकर अश्विन की गेंद को सीधे लांग आफ पर खडे रोहित शर्मा के पास पहुंचा दिया. तमीम ने 62 गेंद खेली तथा सात चौके और एक छक्का लगाया.

अश्विन ने इसके बाद अपना पदार्पण मैच खेल रहे लिट्टन दास (आठ) को पगबाधा आउट किया तो मुशफिकर रहीम (14) को लंबा शॉट खेलने की सजा दी. इससे बांग्लादेश का स्कोर एक विकेट पर 123 रन से तीन विकेट पर 146 रन हो गया. शाकिब और रहमान ने सुनिश्चित किया कि टीम दबाव में नहीं बिखरे और इस बीच कुछ उम्दा शाट लगाकर दर्शकों का भी भरपूर मनोरंजन किया. जडेजा ने रहमान को बोल्ड करके यह साझेदारी तोडी. इसके बाद उन्होंने उमेश यादव की गेंद पर शाकिब का कैच भी लपका. बांग्लादेशी ऑलराउंडर ने बैकवर्ड प्वाइंट पर आसान कैच थमाया.

यादव ने फुलटास पर नासिर हुसैन को भी जडेजा के हाथों कैच कराकर अपने गेंदबाजी विश्लेषण में सुधार किया जबकि भुवनेश्वर ने रुबैल हुसैन और तास्किन अहमद तथा मोहित शर्मा ने मुर्तजा (21) के रुप में अपने नाम पर विकेट जोडा.