लापता डॉर्नियर विमान के मिले सिग्नल, तेज हुई तलाश

लापता डॉर्नियर विमान के मिले सिग्नल, तेज हुई तलाश

नई दिल्ली: सैनिक सर्वेक्षण पोत INS संध्यक को पिछले पांच दिन ले लापता डॉर्नियर विमान का सिग्नल मिले हैं। शनिवार दिन में मिले सिग्नल पुदुच्चेरी के दक्षिण में पोर्तो नोवो और कराईकल के बीच मिले हैं।

खबर है कि सोमवार की शाम चेन्नई से लापता हुए कोस्टगार्ड के डॉर्नियर विमान से रुक-रुक कर सिग्नल मिल रहे हैं। साथ ही उस इलाके में पानी पर तेल भी दिख रहा है। उड़ान के वक़्त डॉर्नियर में कुल तीन लोग सवार थे।

सिग्नल मिलने के बाद तटरक्षक बल के लापता डोर्नियर विमान और उसके चालक दल के तीन सदस्यों की तलाश तेज हो गई है। तट रक्षक (पूर्व), चेन्नई के कमांडर महानिरीक्षक एसपी शर्मा ने बताया, ‘आईएनएस संध्यक ने लापता विमान से सिग्नल पाए हैं। सिग्नल विमान से मिल हैं, जिसमें सोनार लोकेटिंग बीकन है और यह 30 दिन तक सिग्नल भेज सकता है।’ ‘संध्यक’ ने 11 और 12 की दरमियानी रात में करइक्कल-कुड्डालोर तटरेखा पर अपना संचालन शुरू किया था। पोत के सोनार ने सागर में गहराई तक सिग्नल भेजे और विमान से सिग्नल प्राप्त किए।

शर्मा ने कहा, ‘लापता विमान के स्थान का ठीक-ठीक पता लगाने के लिए और जांच करने की जा रही है।’ डॉर्नियर विमान नियमित समुद्री टोही उड़ान के बाद लापता हो गया। इस पर चालक दल के तीन सदस्य मौजूद थे।

इससे पहले शुक्रवार को रक्षा मंत्रालय ने कहा था कि तटरक्षक, नौसेना के पोत और विमान लापता विमान की खोज कर रहे हैं। आईएनएस संधायक तलाश क्षेत्र में 11 और 12 जून की दरमियानी रात को पहुंचा और उसने (कुड्डलूर-कराईकल के तट पर) तलाश शुरू की थी।

पोत ने विमान के सोनार लोकेटर बीमर से मिलने वाले किसी भी संकेत का पता लगाने के लिए जल के भीतर संकेतों का पता लगाने वाले उपकरणों का इस्तेमाल किया था। उल्लेखनीय है कि सीजी डोर्नियर विमान सोमवार रात 9.23 बजे रडार से गायब हो गया था। विमान राज्य के तट और पाक खाड़ी के नियमित निगरानी मिशन पर था और यह चेन्नई स्टेशन से रवाना हुआ था।

India