जश्न के लिए हमने नहीं बनाये हैं एटमी हथियार: मुशर्रफ

जश्न के लिए हमने नहीं बनाये हैं एटमी हथियार: मुशर्रफ

इस्लामाबाद : भारत पर पाकिस्तान को अस्थिर करने का आरोप लगाते हुए पूर्व सैन्य शासक परवेज मुशर्रफ ने कहा है कि परमाणु हथियार देश की रक्षा के लिए हैं न कि किसी ‘जश्न’ के मौके के लिए। पाकिस्तान में 1999 से 2008 के बीच शासन करने वाले मुशर्रफ ने दावा किया कि भारत पूर्वनियोजित रणनीति के तहत आक्रामक रूख अख्तियार कर रहा है जिसका मकसद है कि पाकिस्तान को परमाणु क्षमता विहीन कर दे।

उन्होंने दुनिया न्यूज से कहा, ‘हम परमाणु क्षमता का उपयोग करना नहीं चाहते लेकिन अगर हमारे अस्तित्व पर खतरा पैदा होता है तो ये परमाणु हथियार किस दिन के लिए हैं? अगर मैं चौधरी शुजात के शब्दों में कहूं तो क्या हमने परमाणु हथियार शब-ए-बारात पर उपयोग के लिए रखा है?’ 71 वर्षीय मुशर्रफ ने कहा, ‘हम पर हमला नहीं कीजिए, हमारी क्षेत्रीय अखंडता को चुनौती नहीं दीजिए क्योंकि हम कोई छोटी शक्ति नहीं हैं। हम एक बड़ी और परमाणु शक्ति हैं। हम पर दबाव नहीं बनायें।’ 

उन्होंने कहा, ‘हमें आत्मविश्वास रखना चाहिए कि पाकिस्तान की परमाणु क्षमता को रोकने का उनका (भारतीय) सपना पूरा नहीं होने वाला है। हम उनके मकसद को सफल नहीं होने देंगे।’ पाकिस्तान के पास करीब 120 परमाणु हथियार हैं और विशेषज्ञों का कहना है कि पाकिस्तान के पास दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ रहा परमाणु हथियार कार्यक्रम है। इसके अलावा 2020 तक उसके पास इतनी पर्याप्त विखंडनीय सामग्री होगी कि वह 200 से ज्यादा परमाणु हथियार बनाने में सक्षम होगा।

भारत ने पाकिस्तान को स्पष्ट रूप से चेतावनी देते हुए कहा है कि आतंकवादियों के सफाए के लिए उसे अपनी सीमाओं से आगे जाने में कोई हिचक नहीं होगी। भारतीय सेना ने इसी हफ्ते म्यामांर में एक सटीक हमला किया जिसमें दर्जनों उग्रवादी मारे गए। मुशर्रफ ने प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से भी कहा कि वह धमकियों का जवाब दें