इमाम बाड़ों में शरई कानून लागू हो: कल्बे जवाद

इमाम बाड़ों में शरई कानून लागू हो: कल्बे जवाद

छोटे इमामबाड़े के सामने सड़क जाम, भूख हड़ताल पर बैठी महिला की हालत बिगड़ी 

लखनऊ: शिया वक्फ बोर्ड में फैले भ्रष्टाचार के खिलाफ मुस्लिम महिला जागरूक मंच की महिलाओं का धरना जारी है। 13 दिनों से धरने पर बैठी महिलाओं में आज जरीन की हालत अचानक खराब हो गई उन्हें तुरंत डॉक्टरों की देखरेख में सामरा हॉस्पिटल मै ऐडमट कराया गया। अनेक महिलाओं की हालत गंभीर बनी हुई है। ज़रीन की हालत खराब होते ही महिलाओ ने सडक जाम कर दी है और सरकार के खिलाफ नारे बाजी जारी है।

मंच की अध्यक्ष शबी फातिमा ने कहा कि सरकार ने अब तक हमारी कोई खबर नहीं ली है । हम भी जब तक अपनी मांगों न मनवालें भूख हड़ताल खत्म नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि जो लोग अखबारों में विज्ञापन दे रहे हैं उन्हें चाहिए कि पुराने अखबारों पढ़ें उनके उत्तर दिए जा चुके हैं .मोलाना सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं चेयरमैन भी सीबीआई जांच की मांग करें ताकि जो दोषी हो वह जेल जा मगर उन्होंने अब तक सीबीआई की मांग नहीं की .दोसरे वह मोलाना के खिलाफ सबूत लेकर कौम के सामने बड़े इमाम बााड़े में क्यों नहीं आते हैं वहीं फैसला हो जाएगा।

इधर बड़े इमाम बाड़े पर ताला जड़ा हुआ है। आज मौलाना कल्बे जव्वाद नकवी आलिमों साथ धरने पर पहुंचे और मीडिया को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि कोई हमें टूरिज्म के खिलाफ न समझे हम केवल यह चाहते हैं कि इमाम बाड़ों में शरई कानून लागू हो। उन्होंने कहा कि हमने ए डी एम के पत्र का जवाब दिया और कहा कि नवाबों ने जिस उद्देश्य के लिए यह इमाम बाड़े निर्माण किए थे सरकार इस पर ध्यान दे .हुसेनाबाद की जमीनों पर जो अवैध कब्जे हैं उन्हें मुक्त कराए और मामूली कीमत लेकर जो शोरूम बनाए गए हैं उसका हिसाब किताब पेश किया जाये।

Lucknow, Uttar Pradesh, India