बाज़ार से हटी मैगी, फिर आने का वादा

बाज़ार से हटी मैगी, फिर आने का वादा

नई दिल्ली। बढ़ते विवाद के बाद नेस्ले इंडिया ने गुरूवार रात को मैगी को बाजार से हटाने का फैसला लिया है। नूडल्स में खतरनाक पदार्थो की मात्रा तय मानकों से ज्यादा पाए जाने के चलते कई राज्य पहले ही इस पर प्रतिबंध लगा चुके हैं। इसी को देखते हुए कंपनी ने यह कदम उठाया।

कंपनी ने बयान जारी कर कहाकि, मैगी पूरी तरह सुरक्षित है बावजूद इसके दुर्भाग्य से हाल ही की घटनाओं और प्रॉडक्ट को लेकर निराधार चिंताओ से ग्राहकों के लिए भ्रम का माहौल बन गया है। ऎसे में हमने इसे बाजार से हटाने का फैसला किया है। आगे कंपनी ने लिखा है,"हमारा वादा है कि जैसे ही मामला साफ होगा, तुरंत आपको भरोसेमंद मैगी नूडल्स वापसी करेगा।" हालांकि नेस्ले ने वापसी की कोई तारीख जारी नहीं की है।

गौरतलब है कि गुरूवार को दिल्ली के बाद गुजरात, तमिलनाडु, उत्तराखंड और जम्मू-कश्मीर में भी इसकी बिक्री पर रोक लगा दी गई थी। जांच के दौरान मैगी में मोनोसोडियम ग्लूटामेट और लेड की मात्रा तय सीमा से ज्यादा पाई गई थी। तमिलनाडु और उत्तराखंड ने तीन महीने और गुजरात ने एक महीने का प्रतिबंध लगाया था। वहीं जम्मू-कश्मीर में भी राज्य सरकार ने इसकी बिक्री पर एक महीने का बैन लगा दिया था। वहीं दिल्ली में 15 दिन के लिए बैन लगाया गया था। सेना की कैंटीन से भी इसे हटा दिया गया था।