दिलकश आवाज से मिला मावरा को अभिनय का मौका

दिलकश आवाज से मिला मावरा को अभिनय का मौका

जिंदगी के शो ‘गुलों में रंग’ में अभिनय का जलवा बिखेर रहीं पाकिस्तानी अभिनेत्री मावरा होकाने को आखिरी बार ‘लड़की होना गुनाह नहीं’ में देखा गया था। यह अपने प्रभावशाली परफाॅर्मेंस के लिए दुनिया भर में जानी जाती हैं। लेकिन बहुत कम लोग यह जानते हैं कि मावरा होकाने को पाकिस्तानी टेलीविजन उद्योग में कैसे और क्यों ब्रेक मिला था।   

एक वीजे और टेलीविजन मेजबान के रुप में कार्य करने वाली मावरा ने एक टेलीविजन सीरियल में ‘सेकेंड लीड’ के लिए आॅडिशन दिया था और निर्देशक उसकी आकर्षक और हसीन आवाज से इतना अधिक प्रभावित हुआ कि उसने सेकेंड लीड के बजाए उसे मुख्य भूमिका निभाने के लिए चुन लिया। इन दिनों मावरा होकाने अपनी दिलकश अदाकारी के साथ सोमवार से शनिवार तक शाम 7.30 बजे जिंदगी पर चल रहे शो गुलो के रंग में छाई हुई हैं। 

मावरा गुलों में रंग में शेहरियाल नाम की एक समझदार, स्नेही और मेहनती लड़की की भूमिका निभा रही है, यह लड़की एक स्वतंत्र जीवन जीने की महत्वाकांक्षा रखती है। वह अपने परिवार का सम्मान करती है तथा अपने परिवार की संस्कृति एवं मूल्यों का पूरी शिद्दत से पालन करती है। पेशे से एक चिकित्सक के रुप में उसकी भावना एक गंभीर इंसान की आवाज को प्रदर्शित करती है। गुलों में रंग एक ऐसा शो है, जिसकी कहानी शेहरियाल एवं सिकंदर के जीवन के इर्द-गिर्द घूमती है। ये दोनो एक दूसरे से प्यार तो करते हैं, लेकिन अपने सामाजिक स्तर एवं पारिवारिक स्थिति में अंतर के कारण मिल नहीं पाते। पारिवारिक तौर पर निकटता से जुड़े होने के बावजूद इसके परिजन इन्हें समय-समय पर हतोत्साहित करने में जुटे रहते हैं।