सूखे की आशंका से सूख गया सेंसेक्स

सूखे की आशंका से सूख गया सेंसेक्स

मुंबई : बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स आज 661 अंक लुढ़ककर 27,188.38 अंक पर बंद हुआ। आर्थिक पुनरूद्धार पर रिजर्व बैंक के सतर्क रूख तथा मानसून कमजोर रहने के पूर्वानुमान से बाजार में गिरावट रही। हालांकि, रिजर्व बैंक ने नीतिगत दर में 0.25 प्रतिशत कटौती की है लेकिन बाजार पर इसका असर नहीं पड़ा।

तीस शेयरों वाला बंबई शेयर बाजार का सूचकांक सकारात्मक रख में खुला और एक समय 27,902.53 अंक पर पहुंच गया। लेकिन रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति के तुरंत बाद यह नीचे आ गया और एक समय 27,146.68 अंक तक गिरने के बाद अंत में 660.61 अंक या 2.37 प्रतिशत घटकर 27,188.38 अंक पर बंद हुआ। छह मई के बाद एक दिन में यह सबसे बड़ी गिरावट है।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 196.95 अंक या 2.34 प्रतिशत गिरकर 8,300 अंक के नीचे 8,236.45 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान यह 8,445.35 से 8,226.05 अंक के बीच रहा। रिजर्व बैंक ने इस साल तीसरी बार ब्याज दर में 0.25 प्रतिशत कटौती की लेकिन साथ में यह भी संकेत दिया कि वह निकट भविष्य में और कटौती नहीं कर सकता है, जिससे शेयर बाजार में घबराहट आयी। मुद्रास्फीति चिंता का कारण बनी हुई है। इसके अगस्त तक नरम रहने की उम्मीद है और उसके बाद जनवरी 2016 तक बढ़कर 6 प्रतिशत हो जाएगी।

इस बीच, मौसम विभाग ने मानसून सामान्य से भी कमजोर रहने का अनुमान जताया है। इससे देश में सूखे की आशंका बढ़ी है। ब्याज दर से संबंधित रीयल्टी, बैंक तथा वाहन कंपनियों के शेयरों में सर्वाधिक गिरावट दर्ज की गयी। बोनांजा पोर्टफोलियो के एसोसिएट कोष प्रबंधक हीरेन ढाका ने कहा, रिजर्व बैंक का अनुमान है कि तेल कीमतों में तेजी, सामान्य से कमजोर मानसून और फसल उत्पादन में गिरावट के कारण मुद्रास्फीति बढ़ेगी। कच्चे माल की लागत बढ़ने से कंपनियों के मुनाफे पर असर पड़ सकता है..।

रेलिगेयर सिक्योरिटीज के अध्यक्ष (खुदरा वितरण) जयंत मांगलिक ने कहा, ‘‘भारतीय मौसम विभाग ने ताजा रिपोर्ट में इसमें देरी तथा कमजोर रहने का अनुमान जताया है। इससे धारणा पर असर पड़ा है।’’ इसके अलावा डालर के मुकाबले रपया कारोबार के दौरान 26 पैसे गिरकर 63.96 पर रहा। इससे भी धारणा पर असर पड़ा।

एयरटेल को छोड़कर सेंसेक्स में शामिल सभी शेयरों में गिरावट दर्ज की गयी। ब्याज दरों के प्रति संवेदनशील शेयरों में स्टेट बैंक का शेयर सबसे ज्यादा 4.28 प्रतिशत गिर गया। एक्सिस बैंक के शेयर में 4.20 प्रतिशत, आईसीआईसीआई बैंक का शेयर 3.70 प्रतिशत और एचडीएफसी का शेयर मूलय 3.55 प्रतिशत घट गया। एचडीएफसी बैंक के शेयर मूल्य में 2.65 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई।

गिरावट पाने वाले अन्य शेयरों में हिन्डाल्को, आईटीसी, हीरो मोटो कार्प, सिप्ला, हिन्दुस्तान यूनिलीवर, बजाज आटो, महिन्द्रा एण्ड महिन्द्रा, विप्रो, टाटा स्टील, सन फार्मा, लार्सन एण्ड टुब्रो और कोल इंडिया शामिल हैं।