पिछले 15 वर्षों में भारत ने बांग्लादेश से सिर्फ 7 टेस्ट खेले

पिछले 15 वर्षों में भारत ने बांग्लादेश से सिर्फ 7 टेस्ट खेले

नयी दिल्ली : बांग्लादेश को टेस्ट दर्जा मिलने के बाद उससे सबसे पहला मैच खेलने वाले भारत ने इसके बाद अपने इस पड़ोसी देश के खिलाफ टेस्ट खेलने को तवज्जो नहीं दी और यही वजह है कि पिछले 15 साल में इन दोनों टीमों के बीच केवल सात टेस्ट मैच खेले गये।

भारत अगले महीने फिर से बांग्लादेश का दौरा करेगा जिसमें वह एक टेस्ट मैच भी खेलेगा। यह उसका अपने पड़ोसी देश का टेस्ट मैच खेलने के लिये पांचवां दौरा होगा। जहां तक बांग्लादेश का सवाल है तो टेस्ट दर्जा हासिल करने के बाद वह आस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, दक्षिण अफ्रीका और पाकिस्तान सहित टेस्ट खेलने वाले सभी देशों का दौरा कर चुका है लेकिन उसके खिलाड़ियों का भारतीय सरजमीं पर टेस्ट मैच खेलने का इंतजार अब भी बना हुआ है।

भारत ने अब तब बांग्लादेश के खिलाफ जो सात टेस्ट मैच खेले हैं उनमें से छह में उसने बड़े अंतर से जीत दर्ज की जबकि एक मैच ड्रा रहा। शायद यही वजह रही है कि पिछले 15 वर्षों में भारत ने सबसे कम टेस्ट मैच बांग्लादेश के खिलाफ खेले। बांग्लादेश को टेस्ट दर्जा मिलने के बाद भारत ने सबसे अधिक 33 टेस्ट मैच आस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले। इसके बाद इंग्लैंड (28), वेस्टइंडीज (20), दक्षिण अफ्रीका (17), श्रीलंका (15), न्यूजीलैंड (14) और पाकिस्तान (12) का नंबर आता है। यहां तक कि जिम्बाब्वे के खिलाफ भी भारत ने इस बीच आठ टेस्ट मैच खेले। इनमें से आखिरी मैच सितंबर 2005 में खेला गया था।

बांग्लादेश हालांकि अब तक केवल दो टीमों को हराने में सफल रहा। उसने जिम्बाब्वे को 14 मैचों में से पांच बार और वेस्टइंडीज को 12 मैचों से दो बार शिकस्त दी है। बांग्लादेश ने कुल मिलाकर 90 टेस्ट मैच खेले हैं जिनमें से 71 में उसे हार मिली है जबकि सात मैच उसने जीते हैं। बाकी 12 मैच ड्रा समाप्त हुए। भारत और बांग्लादेश के बीच पहला टेस्ट मैच नवंबर 2000 में ढाका में खेला गया था जिसे भारतीय टीम ने नौ विकेट से जीता था। इसके बाद 2004 में भारतीय टीम ने दोनों टेस्ट मैच पारी के अंतर से जीते थे। राहुल द्रविड़ की अगुवाई में भारत ने 2007 में बांग्लादेश का दौरा किया।

 इस श्रृंखला का पहला मैच चटगांव में खेला गया था जिसे बारिश की कृपा से बांग्लादेश ड्रा कराने में सफल रहा था। हालांकि ढाका में खेला गया दूसरा मैच भारत ने पारी और 239 रन से जीता था। यह वही मैच था जिसमें भारत के चोटी के चार बल्लेबाजों ने शतक जड़े थे। भारत ने आखिरी बार जनवरी 2010 में बांग्लादेश के खिलाफ टेस्ट मैच खेला था। उसने चटगांव में खेले गये पहले टेस्ट मैच में 113 रन से और ढाका में दूसरे मैच में दस विकेट से जीत दर्ज की थी।