जनता ने मोदी से अच्छे दिनों की आस छोड़ दी: सपा

जनता ने मोदी से अच्छे दिनों की आस छोड़ दी: सपा

नई दिल्ली: समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता नरेश अग्रवाल ने केद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर चुनाव में किए वादों को पूरा करने में बिल्कुल नाकाम रहने और पिछले एक साल के दौरान आम लोगों की उपेक्षा करने का आरोप लगाते हुए आज कहा कि अब देश की जनता ने इस सरकार से अच्छे दिन आने की आस छोड़ दी है।

मोदी सरकार का एक साल पूरा होने की पष्ठभूमि में अग्रवाल ने कहा, मैं इस सरकार को 10 में जीरो नंबर दूंगा। सरकार ने अपना एक भी वादा पूरा नहीं किया। उसका पूरा समय विदेश में बीता। लोगों की घनघोर उपेक्षा हुई है। किसान, नौजवान, महिलाएं और अल्पसंख्यक सभी बर्बादी की कगार पर पहुंच गए हैं।

उन्होंने कहा, मैं तो कहूंगा कि देश कभी इतना पीछे नहीं गया जितना बीते एक साल में गया है। अब देश की जनता ने अच्छे दिन आने की आस भी छोड़ दी है।

राज्यसभा सदस्य ने कहा, ये लोग पहले मीडिया के सहयोग से चुनाव जीते और अब मीडिया के जरिए अपनी उपलब्धियां बताना चाहते हैं। मुझे खुशी है कि मीडिया भी सच्चाई समझ गया है।

अग्रवाल ने आरोप लगाया कि भाजपा सरकार अपनी विफलताओं को छिपाने के लिए सांप्रदायिकता का सहारा ले रही है।

उन्होंने कहा, भाजपा अपनी विफलताओं को छिपाने के लिए अल्पसंख्यकों पर हमले करके बहुसंख्यकों को अपने साथ रखना चाहती है। शायद यही भाजपा और आरएसएस की हमेशा से सोच रही है। इसी सोच को निचले स्तर तक फैलाया जा रहा है।

अग्रवाल ने कहा, भड़काऊ बयान देने वाले नेताओं पर क्या कार्रवाई की गई सिर्फ असहमति जताने से क्या होता है। उनके बयान तो मीडिया के माध्यम से जनता तक पहुंच जाते हैं।

भूमि अधिग्रहण विधेयक को लेकर उन्होंने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, संपत्ति का अधिकार हमें संविधान ने दिया है। इस अधिकार का खुलेआम उल्लंघन करके किसानों की जमीन औने-पौने दाम पर उद्योगपतियों को दे दी जाए, इसे हमारी पार्टी बर्दाश्त नहीं करेगी।

अग्रवाल ने सरकार पर कालेधन को लेकर किए गए वादे पर भी नाकाम रहने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, यह सरकार लोगों के बैंक खाते खोलने की बात कर रही है। सवाल है कि लोगों के खाते में कालेधन के 15-15 लाख रूपये लाने की बात की गई थी, उसका क्या हुआ?