दिल्ली में तबादले और नियुक्तियों की इंडस्ट्री चला रहे थे नौकरशाह: सिसोदिया

दिल्ली में तबादले और नियुक्तियों की इंडस्ट्री चला रहे थे नौकरशाह: सिसोदिया

नई दिल्ली। दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने आज नौकरशाहों पर हमला करते हुए आरोप लगाया कि वह आम आदमी पार्टी (आप) की सरकार को अपनी स्थिति का बेजा इस्तेमाल करने से रोकने में जुटे हुए हैं।

सिसोदिया ने संवाददाताओं से बातचीत में दावा किया कि नौकरशाह दिल्ली में पिछले कई साल से "तबादले और नियुक्तियों की इंडस्ट्री" चला रहे थे और सरकार ने उनके पद का दुरूपयोग करने पर लगाम लगाने की कोशिश की है। उन्होंने कहा कि जिम्मेदार बात यह है कि दिल्ली में ट्रांसफर पोस्टिंग एक बड़ा उद्योग है और आप की सरकार ने पिछले तीन माह में इस पर रोक लगाई है, इस दौरान सभी तबादले पात्रता के आधार पर किये गये और इनमें पूरी ईमानदारी बरती गई, इससे करोड़ों रूपये के ट्रांसफर पोस्टिंग इंडस्ट्री पर रोक लगी और इसलिए लोग हमारा विरोध कर रहे हैं।

मुख्य कार्यकारी सचिव के पद पर शकुन्तला गैमलिन की नियुक्ति को लेकर उपराज्यपाल नजीब जंग और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के बीच हुए टकराव के बाद भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों के संघ की कल शाम दिल्ली में एक बैठक हुई थी, जिसमें दिल्ली सरकार के रवैये पर नाराजगी जताई गई थी। बैठक में यह अपील की गई कि अधिकारियों पर बेवजह आरोप न लगाए जाएं और उन्हें अपमानित नहीं किया जाये।

सिसोदिया ने सोशल मीडिया पर एक सेवानिवृत्त प्रशासनिक अधिकारी के सक्रिय होने पर निशाना साधते हुए एक ट््वीट में कहा कि यह अधिकारी पिछली सरकार में ट्रांसफर पोçस्ंटग का उद्योग चल रहे थे और सेवानिवृत्त होने के बाद नौकरशाहों को प्रोत्साहित करने की बात कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार का एक-एक अधिकारी पूरी ऊर्जा के साथ केजरीवाल और अन्य मंत्रियों के साथ काम कर रहा है। इन अधिकारियों की नैतिकता बहुत उच्च स्तर की है, लेकिन जो अधिकारी अपने पदों का दुरूपयोग कर रहे हैं, वे हतोत्साहित हुए हैं।