न्यायपालिका पर यह क्या बोल गए मोहन प्रकाश

न्यायपालिका पर यह क्या बोल गए मोहन प्रकाश

लखनऊ। कांग्रेस महासचिव मोहन प्रकाश ने मोदी सरकार को घेरते घेरते न्यायपालिका को भी लपेटे में ले लिया। उन्होंने हैरानी जताते हुए कहा कि जयललिता बरी हो जाती हैं, सलमान खान को जमानत मिल जाती हैं, अमित शाह और फर्जी एनकाउंटर के दोषी छूट जाते हैं लेकिन माया कोडनानी को सजा सुनाने वाले न्यायाधीश को धमकी दी जाती है और न्यायपालिका चुप रहती है। 

प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में पत्रकार वार्ता में मोहन प्रकाश ने नरेंद्र मोदी सरकार को हर मोर्चे पर विफल बताया और यह दावा तक कर डाला कि उनकी सरकार की गलत नीतियों के चलते प्राइवेट सेक्टर के बैंक भारी मुनाफा बना रहे हैं। मोहन प्रकाश ने आरोप लगाया कि मोदी सरकार ने स्वास्थ्य, शिक्षा, आवास, महिला कल्याण सहित अन्य विभागों का बजट कम कर दिया है। निर्माण उद्योग 30 प्रतिशत नीचे चला गया है। मानव संसाधन विकास मंत्री सेंटर ऑफ एक्सीलेंस को लगातार कमजोर कर रही हैं। उन्होंने कहा कि मुख्य सूचना आयुक्त सहित तमाम महत्वपूर्ण पद खाली हैं और सरकार में पारदर्शिता का सर्वथा अभाव हैं। मुख्य सतर्कता आयोग भी मोदी सरकार की प्राथमिकता में नहीं है। उन्होंने कहा कि शंघाई व सियोल में प्रधानमंत्री के वक्तव्यों से देश की प्रतिष्ठा धूमिल हुई है।

Lucknow, Uttar Pradesh, India