भूकम्प को लेकर अफवाह न फैलाएं

भूकम्प को लेकर अफवाह न फैलाएं

मुख्यमंत्री ने वास्तविक तथ्यों के प्रचार-प्रसार के दिए निर्देश

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज दोपहर प्रदेश में महसूस किये गये भूकम्प के झटकों के मद्देनजर अफवाह फैलने से रोकने के लिए भूकम्प से सम्बन्धित वास्तविक तथ्यों के व्यापक प्रचार-प्रसार तथा 24 घंटे कण्ट्रोल रूप स्थापित करने के निर्देश दिये हैं। यह जानकारी देते हुए राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि आज आए भूकम्प से प्रदेश में अभी तक किसी की भी मृत्यु या घायल होने की सूचना नहीं है।

प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री के निर्देशों के क्रम में राज्य सरकार द्वारा नेपाल में आए भूकम्प पीडि़तों को राहत पहुंचाने का कार्य लगातार जारी है। भूकम्प पीडि़तों की जरूरतों के मुताबिक टेण्ट, गद्दे, तिरपाल, कम्बल, पानी शुद्धिकरण की दवाइयां, स्वच्छता किट, बर्तन आदि को राहत सामग्री के रूप में वरीयता देते हुए भेजा जा रहा है। विभिन्न जनपदों से भी राहत सामग्री एकत्रित कर नेपाल पहुंचायी जा रही है। 

प्रवक्ता ने बताया कि नेपाल में आए भूकम्प के मद्देनजर राहत सामग्री के रूप में अब तक सोनौली इण्डो-नेपाल बार्डर होते हुए कुल 936 ट्रक राहत सामग्री भेजी गयी है, जिसमें 378 ट्रक में खाद्य सामग्री (चावल, दाल, आटा, आलू, प्याज, नमक इत्यादि), 202 ट्रक बिस्कुट एवं अन्य ड्राई फूड, 12 मैगी/नूडल्स, 99 ट्रक मिनरल वाटर, 25 ट्रक दवाइयां/क्लीनिकल सामग्री, 119 ट्रक कम्बल/तिरपाल/टेण्ट, 08 ट्रक बर्तन, 06 ट्रक गद्दे, 03 ट्रक कपड़े तथा 84 ट्रक जिनमें ट्रांसफार्मर/इलेक्ट्रिकल उपकरण शामिल हैं। इसके साथ ही, 59,214 कम्बल, 52,885 तिरपाल/प्लास्टिक शीट्स, 3,583 तौलिया, 4,450 चटाई, 2,931 टार्च, 2,350 सोलर लालटेन तथा 11 कुन्तल रस्सी भी भेजी गयी है।

प्रवक्ता के अनुसार परिवहन निगम की बसों से काठमाण्डू एवं भैरहवा/सोनौली से अब तक 12,316 भूकम्प पीडि़तों को गोरखपुर लाया गया है। अन्य साधनों से सोनौली 8,327 भूकम्प पीडि़तों को शामिल करते हुए लगभग 20,643 भूकम्प पीडि़त विभिन्न साधनों से अपने गंतव्य को प्रस्थान कर चुके हैं।

Lucknow, Uttar Pradesh, India