मोदी के दौरे से पहले माओवादियों ने बनाया गांव वालों को बंधक

मोदी के दौरे से पहले माओवादियों ने बनाया गांव वालों को बंधक

दंतेवाड़ा: छत्तीसगढ़ में आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली से पहले माओवादियों ने 300 के करीब गांववालों को बंधक बनाया है। बताया जा रहा है कि तोंगपाल इलाके में माओवादियों ने इन गांव वालों को बंधक बनाया है।

कहा जा रहा है कि माओवादियों ने गांव वालों को पीएम की रैली में जाने से रोकने के लिए ऐसा किया है।  जानकार कह रहे हैं यह इसलिए भी किया गया है ताकि माओवादी मीडिया का ध्यान आकर्षित कर सकें। कुछ लोगों का यह भी कहना है कि माओवादी ऐसा करते हैं लेकिन गांववालों को नुकसान नहीं पहुंचाया जाता है।

वहीं, आईजी बस्तर एसआरपी कल्लुरी ने एनडीटीवी से कहा कि ऐसा नहीं है कि बंधक बनाए गए लोग पीएम मोदी की रैली में आ रहे थे। उनके अनुसार दंतेवाड़ा के मारेंगा में माओवादियों ने 7-8 मजदूरों का अपहरण किया था जिन्हें छुड़ाने के लिए बातचीत करने के लिए कुछ गांव वाले गए थे जिन्हें माओवादियों ने रोक लिया है।

उधर, सुकमा जिले के एएसपी हरीश राठौड़ का कहना है कि 300 से ज्यादा लोगों को माओवादियों ने अगवा किया है। इन सभी लोगों को अगवा कर मारेंगा गांव ले जाया गया है। माओवादी मारेंगा गांव के पास पुल बनाए जाने से नाराज थे। इसके विरोध में माओवादियों ने यह कार्रवाई की है।

उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा जिले में की जा रही सामाजिक-आर्थिक विकास पहलों का जायजा लेने आज वहां जायेंगे।

राज्य सरकार के अधिकारियों ने बताया कि विशाल इस्पात संयंत्र लगाने और रावघाट-जगदलपुर रेल लाइन के दूसरे चरण के निर्माण से जुड़ी दो बड़ी परियोजनाओं का मोदी की यात्रा के दौरान उद्घाटन किया जाएगा।

India