हार्दिक पांड्या ने दिलाई मुंबई इंडियंस को जीत

हार्दिक पांड्या ने दिलाई मुंबई इंडियंस को जीत

चेन्नई : हार्दिक पांड्या ने पहले तीन खूबसूरत कैच लिये और बाद में विषम पलों में तीन जबर्दस्त छक्के जड़े जिससे मुंबई इंडियन्स ने उतार-चढ़ाव वाले मैच में शुक्रवार को यहां चेन्नई सुपरकिंग्स को उसके घरेलू मैदान पर छह विकेट से हराकर आईपीएल आठ में अपनी उम्मीदों को पंख लगाये। टास जीतकर पहले बल्लेबाजी के लिये उतरे चेन्नई ने कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के नाबाद 39 रन और युवा पवन नेगी (17 गेंद पर 36 रन) के साथ उनकी 54 रन की साझेदारी की बदौलत पांच विकेट पर 158 रन का सम्मानजनक स्कोर बनाया।

पार्थिव पटेल (45) और लेंडल सिमन्स (38) ने पहले विकेट के लिये 84 रन जोड़कर मुंबई को अच्छी शुरुआत दिलायी लेकिन बीच में दो रन के अंदर तीन विकेट गंवाने से मुंबई बैकफुट पर पहुंच गया। उसे आखिर में 12 गेंद पर 30 रन की दरकार थी। ऐसे में 19वें ओवर में पांड्या (आठ गेंद पर नाबाद 21) के तीन छक्कों ने मुंबई की जीत सुनिश्चित की जिसने आखिर में 19.2 ओवर में चार विकेट पर 159 रन बनाये। अंबाती रायुडु 19 गेंद पर 34 रन बनाकर नाबाद रहे। मुंबई की यह 11वें मैच में छठी जीत है जिससे उसके 12 अंक हो गये हैं और वह चौथे स्थान पर पहुंच गया है।

चेन्नई की 11 मैच में यह चौथी हार है लेकिन वह अब भी अंकतालिका में शीर्ष पर बना हुआ है। चेन्नई की अपने घरेलू मैदान पर पिछले दो साल में यह पहली हार है। मुंबई की सलामी जोड़ी ने रणनीतिक बल्लेबाजी की और केवल ढीली गेंदों पर प्रहार किया। उन्होंने इस मैच में वापसी करने वाले रविचंद्रन अश्विन (चार ओवर में 17 रन देकर दो विकेट) को संभलकर खेला लेकिन आईपीएल आठ में अब तक सर्वाधिक विकेट लेने आशीष नेहरा को निशाने पर रखा जिन्होंने अपने तीन ओवर में 45 रन लुटाये।

पार्थिव ने भी अश्विन के आखिरी ओवर में लंबा शाट खेला लेकिन सीमा रेखा पर फाफ डु प्लेसिस खड़े थे जिन्होंने छक्के लिये जा रही गेंद को कैच में बदल दिया। अश्विन ने इसी ओवर में दूसरे सलामी बल्लेबाज सिमन्स को भी डीप मिडविकेट पर कैच देने के लिये मजबूर किया। पार्थिव ने 32 गेंद खेली और छह चौके लगाये। सिमन्स की 31 गेंद की पारी में तीन चौके और दो छक्के शामिल हैं। कीरोन पोलार्ड (1) के रन आउट होने से एकदम से स्कोर बिना किसी नुकसान के 84 रन से तीन विकेट पर 86 रन हो गया। इसके बाद अगले चार ओवर तक कोई बाउंड्री नहीं गयी और डुप्लेसिस ने रोहित शर्मा (18) का कैच छोड़ा।

गेंद और रनों के बीच अंतर बढ़ गया। रायुडु ने ऐसे में दूसरे स्पैल के लिये गेंद संभालने वाले नेहरा पर दो छक्के लगाकर खामोशी तोड़ी लेकिन रोहित जीवनदान का फायदा नहीं उठा पाये। उन्होंने गेंद हवा में लहरायी और रैना ने उसे लपक दिया। आखिरी दो ओवर में 12 रन की दरकार थी। धोनी ने नेगी को गेंद सौंपी जिन्होंने अपने पहले तीन ओवर में केवल दस रन दिये थे लेकिन पांड्या और रायुडु ने उन पर चार छक्के जड़कर मैच मुंबई की झोली में डाल दिया। इनमें से तीन छक्के पांड्या ने लगाये। रायुडु ने अगले ओवर में विजयी चौका जड़ा।

इससे पहले चेन्नई जब टास जीतकर पहले बल्लेबाजी के लिये उतरा तो ब्रैंडन मैकुलम (11 गेंदों पर 23 रन) और ड्वेन स्मिथ (34 गेंद पर 27 रन) ने शुरू से ही अपने विस्फोटक तेवर दिखाने में नाकाम रहे। मैकुलम जब सात रन पर थे तब हरभजन सिंह ने उनका हाथ में आया कैच भी छोड़ा।

Lucknow, Uttar Pradesh, India