लाभ में पहुंची स्टार यूनियन डाय ची लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लि.

लाभ में पहुंची स्टार यूनियन डाय ची लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लि.

लखनऊ: स्टार यूनियन डाय ची लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लि. ने वित्त वर्ष 2014-15 में पहली बार 12.87 करोड़ रूपये का शुद्ध लाभ अर्जित किया है। कंपनी ने लाभदायक विकास रणनीति को अपनाकर परिचालन के छठे वर्ष में पहली बार लाभ कमाने की उपलब्धि हासिल की है। 

स्टार यूनियन डाय ची की उपलब्धियां बैंकाश्योरेंस माॅडल की सुदृढ़ता को दर्शाती है। यह माॅडल अपने शेयरधारक बैंकों यानी बैंक आॅफ इंडिया, यूनियन बैंक आॅफ इंडिया और उनके सहयोगी क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों के माध्यम से दक्षतापूर्वक शहरी और ग्रामीण उपभोक्ताओं तक पहुंचने में सक्षम रहा है। 

समीक्षाधीन वित्त वर्ष के दौरान, कंपनी ने नये बिजनेस प्रीमियम में 12 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है और यह 630 करोड़ रूपये रहा। इंडीविजुअल न्यू बिजनेस इफेक्टिव प्रीमियम इनकम (ईपीआइ) 19 प्रतिशत बढ़कर 402 करोड़ रूपये पहुंच गई है। गत वित्त वर्ष में यह आंकड़ा 339 करोड़ रूपये था। जबकि उद्योग की ईपीआइ में 11 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई। 

रिन्युअल प्रीमियम में 31 प्रतिशत की बढ़त देखी गई और यह 505 करोड़ रूपये पहुंच गया। परिणामस्वरूप, कंवर्जन रेशियो गत वित्त वर्ष के 67 प्रतिशत की तुलना में बढ़कर 70 प्रतिशत पर आ गया। 

वित्त वर्ष 2014-15 में कंपनी की कुल प्रीमियम आय 1135 करोड़ रूपये पहुंच गई है। विगत वित्त वर्ष में यह आय 949 करोड़ रूपये थी। रेगुलर प्रीमियम पाॅलिसी और पारंपरिक उत्पादों पर मजबूती से किये गये फोकस के कारण आय में वृद्धि हुई है। वित्त वर्ष 2014-15 में कंपनी की प्रबंधनाधीन परिसंपत्ति 20 प्रतिशत बढ़कर 5,539 करोड़ रूपये दर्ज की गई।

कुल प्रीमियम में परिचालन खर्च अनुपात 20 प्रतिशत रहा जबकि गत वर्ष यह 23 प्रतिशत पर था। लागत प्रबंधन पहलों के माध्यम से निरंतर निगरानी और फोकस से परिचालन खर्च को कम करने में मदद मिली है। कंपनी ने वित्त वर्ष 2014-15 में ग्रामीण एवं सामाजिक क्षेत्र के प्रति उत्तरदायित्वों से बढ़कर प्रदर्शन किया है। पिछले साल भी इसमें बेहतर प्रदर्शन किया था।  

स्टार यूनियन डाय ची का साॅल्वेंसी अनुपात 251 प्रतिशत रहा, जबकि विनामकीय आवश्यकता 150 प्रतिशत थी।

वित्तीय परिणामों की घोषणा करते हुये श्री गिरीश कुलकर्णी, प्रबंध निदेशक एवं सीईओ ने कहा, ‘‘हमने चुनौतीपूर्ण बाजार परिस्थितियों के बावजूद लगातार तीसरे वर्ष खुदरा व्यवसाय में 20 प्रतिशत का सुदृढ़ विकास जारी रखा है। परिचालन के छठे पूर्ण वर्ष में प्रीमियम बुक ने अब मुनाफा देना प्रारंभ कर दिया है। हमारा क्लेम सेटलमेंट रेशियो भी 96 प्रतिशत पर बना हुआ है। अल्पव्ययी परिचालन माॅडल हमें हमारे स्वस्थ लागत अनुपात के साथ एक धार प्रदान कर रहा है। यह उपलब्धि हमारे कर्मचारियों, हितधारकों और हमारे वितरक बैंकों का परिणाम एवं प्रतिबद्धता है।‘‘