शामली की घटना पर डीजीपी सख्त

शामली की घटना पर डीजीपी सख्त

रेलवे पुलिस को ट्रेनों में सतर्क दृष्टि रखने के दिए निर्देश  

लखनऊ: प्रदेश के पुलिस महानिदेशक अरविन्द कुमार जैन ने आज बड़ौत में जनता एक्सप्रेस ट्रेन में घटित घटना के बारे में अपर पुलिस महानिदेशक, रेलवे, उ0प्र0 को निर्देश दिये गये  कि उक्त क्षेत्र की सभी ट्रेनों पर अत्यन्त सतर्क दृष्टि रखी जाये ।

पुलिस महानिदेशक ने निर्देश दिया कि ट्रेन जहाॅ से प्रारम्भ हो रही है, वहीं से सतर्कता रखनी होगी तथा उन डिब्बों में सतर्क कर्मचारी बैठाने होंगे जिनमें इस प्रकार के नई उम्र के लड़के दिखायी पड़ते अथवा बाहरी युवक जो देवबंद जाते हैं ऐसे लड़के जो ट्रेनों में प्रायः गुण्डागर्दी करते है तथा रूट पर स्थित अपने घरों के पास वाले स्टेशन पर उतर जाते हैं, का चिन्हीकरण जीआरपी द्वारा पूर्व में कराया गया था। यदि कभी बहुत बड़ी संख्या में छात्रों का मूवमेन्ट हो रहा हो तो उपयुक्त होगा कि स्थानीय पुलिस को भी सूचना दे दी जाये जिससे अतिरिक्त फोर्स लगा दिया जाये तथा रूट में पड़ने वाले सिविल पुलिस के थानों को भी सतर्क कर दिया जाये । जीआरपी के थाना शामली, बड़ौत, मेरठ, चौकी लोनी, चौकी देवबंद इत्यादि सभी को बहुत सतर्क रहना होगा तभी घटनाएं रूकेगी।

पुलिस महानिदेशक नेे आदेशित किया है कि उपद्रवी तत्वों के चिन्हीकरण एवं अपराध पर प्रभावी नियंत्रण हेतु उपरोक्त क्षेत्रों में चलने वाली ट्रेनों में व्यापक स्तर पर वीडियोग्राफी करायी जाये । यदि ऐसे लड़कों की वीडियोग्राफी होती रहे तथा सिपाहियों के पास वीडियो कैमरे रहे तो ट्रेनों में कोई हरकत नहीं होगी। जो नई उम्र के लड़के ट्रेनों में बियर इत्यादि पीते हैं, हुड़दंग मचाते हैं व ग्रुप में चढ़ते हैं और गु्रप में जाते हैं, उसका रिकार्ड तैयार कर लिया जाये, फोटो डेवलप करा दिये जायें जिससे उनको दिखाकर पहचान करायी जा सके। ट्रेनों के स्कोर्ट में वही कर्मचारी लगाये जायें जिनकी इस कार्य में रूचि हो तथा चिन्हित डिब्बों में विशेष रूप से सतर्कता बरती जाये । जनपद बागपत, मेरठ, मुजफ्फरनगर, शामली, सहारनपुर में हाल के सालों में साम्प्रदायिक स्थिति विषम हुई है तथा इस पृष्ठभूमि में और भी अधिक सतर्कता बरतना अपेक्षित होगा । जीआरपी को यदि कुछ लड़कों को चिन्हित करने में कठिनाई आ रही हो, तो स्थानीय पुलिस का पूरा सहयोग लिया जाये तथा ऐसे लड़कों की सूचियाॅ बनवाने में भी स्थानीय पुलिस द्वारा सहयोग किया जायेगा । जब तक ऐसे लड़के चिन्हित होकर बंद नहीं किये जायेंगे व उनके खिलाफ अत्यन्त कठोर कार्यवाही गैंगेस्टर एक्ट/एनएसए में नहीं होगी तब तक स्थिति पर नियंत्रण पाना दुरूह कार्य होगा । 

पुलिस महानिदेशक ने आदेशित किया है कि थाना कांधला पर अज्ञात 06 युवक के खिलाफ थाना जीआरपी बड़ौत में मुकदमा कायम कराया गया है, वह थाना कांधला से जीआरपी बड़ौत जायेगा। इस अभियोग की विवेचना के लिये एक टीम का गठन किया जाये तथा इस प्रकार की जो और भी घटनाएं पूर्व में पिछले 5-7 सालों में घटित हुई हैं उनमें कौन-कौन अभियुक्त थे, वह कहाॅ पर हैं, उन सब का विवरण भी संकलित कर आवश्यक कार्यवाही की जाये । 

पुलिस महानिदेशक द्वारा पुलिस महानिरीक्षक, मेरठ जोन, मेरठ को भी निर्देश दिये गये हैं कि अधीनस्थ जनपदों से जीआरपी को पूर्ण सहयोग दिलाया जाये । रेलवे ट्रेक के करीब स्थित थानों से भी सूचनाएं एकत्र करायी जायें कि यह कौन से लड़के हैं जो इस तरह की घटनाएं ट्रेनों में करते हैं । 

पुलिस महानिदेशक द्वारा पुलिस अधीक्षक, शामली को भी निर्देशित किया गया है कि विगत दो दिनों में हुए घटनाक्रम को पुलिस बल द्वारा समय रहते नियंत्रण में कर लिया गया है और यह नियंत्रण ऐसे ही बरकरार रहना चाहिए। उन्होंने अपेक्षा की है कि जिन लड़कों ने उत्पात किया है व जमात के श्री फारूख के साथ दुव्यर्वहार किया है ऐसे लड़के न सिर्फ पकड़े जाने चाहिए, बल्कि उनके खिलाफ गैंगेस्टर एक्ट की भी कार्यवाही होनी चाहिए । साम्प्रदायिक वातावरण को अपनी गुण्डागर्दी से विषाक्त कर रहें ऐसे लड़कों पर रासुका लगाने पर भी विचार होना चाहिए । 

उन्होंने कहा कि घटना के प्रतिशोध में जिन लोगों ने पुलिस पर पथराव, ट्रेन में चढ़कर अराजकता फैलाने का प्रयास किया, तोड़फोड़ किया, थाने पर आगजनी की तथा कथित फायरिंग की उनपर कार्यवाही की जाये । ऐसे तत्वों का मनोबल बढ़ने न पाये । सरकारी सम्पत्ति को क्षति पहंुचाने तथा आग लगाने के भी मुकदमें गम्भीर धाराओं में दर्ज कर वैधानिक कार्यवाही की जाये । पुलिस सख्ती का रूख रखे । अराजक तत्वों को चिन्हित करें, कानून व्यवस्था के साथ खिलवाड़ करने वाले कदापि बक्शे न जायें, साथ ही साथ कोई निर्दोष व्यक्ति न पकड़ा जाये । रेलवे ट्रैक के दोनों तरफ साम्प्रदायिक रूप से संवेदनशील गांवों में गुण्डागर्दी करने वाले लड़कों को चिन्हित किया जाये एवं उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाये । 

शामली जनपद साम्प्रदायिक दृष्टि से बहुत ही संवेदनशील है, वहाॅ दंगा नियंत्रण स्कीम का रिहर्सल करा लिया जाये। वांछितों की गिरफ्तारी हेतु दविशें डाली जायें। प्रकरण में बहुत सख्ती की जाये जिससे पश्चिमी उ0प्र0 का वातावरण पूर्व की भाॅति विषाक्त न होने पाये । पुलिस अधिकारीगण एवं मजिस्ट्रेट की संयुक्त टीमें आपस मंे तारतम्य बनाकर निरन्तर भ्रमण करती रहें । स्थिति सामान्य करने हेतु शांति कमेटियों का गठन कर सक्रिय किया जाये। अराजक तत्वों के विरूद्ध कार्यवाही हो । ऐसे समय में आपराधिक तत्व घटना का लाभ न उठाने पायें ।

पुलिस महानिदेशक ने कहा कि इस घटना का अनावरण करने वाली पुलिस टीम को चाहे वह जीआरपी की हो या सिविल पुलिस को उनके स्तर से पुरस्कृत किया जायेगा । 

पुलिस महानिरीक्षक, रेलवेज, लखनऊ को कल ही क्षेत्र के लिये रवाना कर दिया गया है जो प्रभावित रेलरूट का निरीक्षण करेंगे एवं कार्यवाहियाॅ सुनिश्चित करायेंगे । 

जनपद शामली को पर्याप्त संख्या में आरएएफ, पीएसी उपलब्ध करा दी गयी है । पुलिस महानिदेशक के निर्देश पर पुलिस महानिरीक्षक मेरठ जोन एवं पुलिस उपमहानिरीक्षक सहारनपुर परिक्षेत्र तत्काल शामली पहंुच गये । उन्हें भी निर्देशित किया गया है कि स्थिति से कड़ाई से निपटें ।  

Lucknow, Uttar Pradesh, India