4000 पहुंची मृतकों की संख्या, 10000 होने की आशंका

4000 पहुंची मृतकों की संख्या, 10000 होने की आशंका

नेपाल में आज भी आये कई झटके, भारी बारिश की चेतावनी  

नई दिल्ली/काठमांडू। भूकंप के चलते नेपाल में मरने वाले लोगों की संख्या चार हजार के करीब पहुंच गई है। गृह मंत्रालय ने अभी तक 3726 मौतों की पुष्टि की है। यह आंकड़ा 10 हजार को पार करने की आशंका जताई जा रही है। भारतीय वायुसेना, एनडीआरएफ और नेपाली सेना के साथ मिलकर राहत कार्यो में जुटे हुए हैं। काठमांडु के बाद आसपास के गांवों और दूरदराज के इलाकों में भी राहत कार्य शुुरू किए गए हैं।

सोमवार को सुबह एक बार फिर भूकंप के झटकों से नेपाल हिल गया। सुबह करीब 6.25 बजे हल्के झटके महसूस किए गए। इससे कोई नुकसान तो नहीं हुआ, लेकिन लोगों में मन एक बार फिर घबराहट बैठ गई। शनिवार से लेकर अभी तक 66 बार भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। रविवार को बारिश के चलते राहत कार्यो में बाधा हुई। भारतीय मौसम विभाग के डीजी एलएस राठौड़ ने बताया कि, नेपाल में अगले 48 घंटों में भारी बारिश की चेतावनी दी है।

नेपाल में भूकंप प्रभावित क्षेत्र में अब तक राष्ट्रीय आपदा त्वरित कार्य बल के 10 दल जुटे हुए हैं तथा छह टीमों को शीघ्र ही वहां भेजा जाएगा। विदेश सचिव एस. जयशंकर ने बताया कि भारत ने काठमांडू तक राहत सामग्री तथा बचाव दल पहुंचाने के लिए अब तक 13 सैन्य विमान और तीन यात्री विमान लगाए गए हैं। राहत सामग्री के तौर पर 10 टन कंबल, 50 टन पानी और 22 टन खाद्य पदार्थ भेजे गए हैं। इनके अलावा दो अत्याधुनिक हल्के हेलीकॉप्टर (एएलएच) और एक एमआई-17 हेलीकॉप्टर आरक्षित रखें गए हैं।

भूकंप से तबाह हुए नेपाल की सहायता करने के लिए एशियाई विकास बैंक (एडीबी) ने 20 करोड़ डॉलर की सहायता राशि देने की घोषणा की है। एडीबी के अध्यक्ष तकेहिको नकाओ ने कहा कि बैंक 30 लाख रूपये की सहायता राशि अतिशीघ्र जारी करेगा, जिसका इस्तेमाल पीडितों को चिकित्सा सहायता, पानी, भोजन और रहने के लिए आश्रय और अन्य मानवीय सहायता उपलब्ध कराने के प्रयासों में किया जाएगा। बाद में पुननिर्माण के कार्य में भी नेपाल को 20 करोड़ डॉलर की अतिरिक्त सहायता प्रदान करेगा।