आज़म के हर बयान से आरएसएस को पहुँचता है फ़ायदा: शाहनवाज़ क़ादरी

आज़म के हर बयान से आरएसएस को पहुँचता है फ़ायदा: शाहनवाज़ क़ादरी

नेशनल मुस्लिम फ्रंट अखिलेश से की तत्काल बर्खास्तगी की मांग  

नेशनल मुस्लिम फ्रंट के अध्यक्ष सैयद शाहनवाज़ कादरी ने समाजवादी पार्टी के तनख़इया मुस्लिम नेता व काबीना मंत्री के मुल्क छोड़कर जाने के बयान की सख़्त मज़्जमत करते हुये कहा कि उनके इस बयान से उत्तर प्रदेश ही नहीं बल्कि मुल्क के मुसलमानों की मुल्क के लिए कुर्बानी व देशभक्ति पर सवालिया निशान लगा दिया है जो कि आम मुसलमानों की भावनाओं को आहत करता है ऐसे मंत्री को तत्काल बर्खास्त कर देना चाहिए और अगर मुलायम सिंह व अखिलेश यादव उन्हें बर्खास्त नहीं करते तो यह साबित हो जायेगा कि इस तरह का बयान समाजवादी पार्टी का आफ़ीशियल बयान है। श्री आज़म खां को जहाँ जाना हो जाये इस सूबे व मुल्क का मुसलमान गुजरात व मुज़फ्फर नगर के वाक्ये (सामूहिक नरसंहार) को झेलकर भी अदना से अदना व कमज़ोर मुसलमान इतनी घटिया सोच नहीं रखता है।

श्री कादरी ने एक शेर जि़क्र करते हुए ‘‘अब के जो फैसला होगा व यहीं पर होगा’’ हम से अब दूसरी हिजरत नहीं होने वाली’’, कहा कि आजम खां जब मुँह खोलते हैं तो वहीे बोलते हैं जिससे आर.एस.एस. को फायदा हो और मुस्लिम समाज मंे भय पैदा हो और वह भयभीत होकर समाजवादी पार्टी की गोद में जा बैठे।

श्री कादरी ने कहा कि अब जबकि मुस्लिम समाज पूरी तरह से समाजवादी पार्टी से उनके झूठे वादों व मुज़फ्फर नगर सहित तीन साल की हुकुमत में सैकड़ो छोटे बड़े साम्प्रदायिक दंगों से मौजूदा से  प्रदेश हुकूमत से निराश हो चुका है। ऐसे में अब काँठ की हांडी बार-बार नहीं चढ़ती, कहावत को झुठलाकर मुस्लिम समाज में भय पैदा कर वोट हासिल करना चाहते है जो कि इनका सपना ही हो कर रह जायेगा।

पिछले हफ्ते ही मुज़फ्फर नगर के कैम्पांे पर जब बुलडोज़र चल रहा था तब यह मंत्री जी कहाँ थे? आज तक मुज़फ्फर नगर व उसके आसपास के जि़लों में मुसलमान गुजरात के वाक़यात से ज्यादा खौफज़दा है आज भी हजारों लोग अपने घरों को वापस नहीं जा सके है इसके लिए क्या आज़म खाँ कसूरवार नहीं है।

आखीर मंे, श्री कादरी ने काबीना मंत्री के पनाहगार मुल्क का इशारा करते हुए कहा कि आज़म की सोच व आर.एस.एस. की सेाच एक ही मुल्क की पुश्तपनाही से पैदा होती है। उस मुल्क के प्रधानमंत्री से श्री मुलायम सिंेह व मोदी दोनों के अच्छे रिश्ते है वह आराम से इज़राईल जाकर रह सकते हैं।

Lucknow, Uttar Pradesh, India