पूर्वी यूपी में 3जी नेटवर्क सर्विस को और बढ़ाएगा वोडाफ़ोन

पूर्वी यूपी में 3जी नेटवर्क सर्विस को और बढ़ाएगा वोडाफ़ोन

पिछले 12 महीनों में कंपनी ने किया 480 करोड़ रुपये से अधिक का निवेश

लखनऊ: भारत के प्रमुख दूरसंचार सेवा प्रदाता वोडाफोन इंडिया ने “कस्टमर फर्स्ट“ की सोच को ध्यान में रखते हुए पूर्वी उत्तर प्रदेश में नेटवर्क व डिस्ट्रिब्यूशन को बेहतर बनाने के लिए पिछले 12 महीनों के दौरान 480 करोड़ रुपये से अधिक का निवेश किया । 

वोडाफोन ने पिछले 12 महीनों के दौरान पूर्वी उत्तर प्रदेश में 800 से अधिक नई 3जी साइट्स को जोड़ते हुए अपने नेटवर्क को बढ़ाया है। इस वृद्धि से, पूर्वी उत्तर प्रदेश के विभिन्न इलाकों में रहने वाले 4.5 करोड़ से अधिक लोग वोडाफोन के 3जी नेटवर्क सर्विस का उपयोग करने लगेसे जुड़े हैं।  

वोडाफोन इंडिया, पूर्वी उत्तर प्रदेश के बिजनेस हेड, पंकज थपलियाल ने आज होटल ताज में आयोजित एक पत्रकार वार्ता में कंपनी के विगत वर्ष के प्रदर्शन और आगे की योजनाओं के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कहा कि ग्राहकों के सहयोग और विश्वास की वजह से ही हमें नेटवर्क, सब्सक्राइबर बेस, रिटेल फुटप्रिंट व रेवेन्यू मार्केट शेयर जैसे प्रमुख मापदंडों में अग्रणी स्थान हासिल हुआ है। 

सर्कल के सबसे बड़े नेटवर्क में से एक को स्थापित करने के बाद, अब पूर्वी उत्तर प्रदेश में वोडाफोन के 12200 से अधिक 3जी व 2जी साइट्स है जो सर्कल की 97 फीसदी आबादी को कवर करते हैं। विशेष तौर पर जागरुकता फैलाने और मोबाइल इंटरनेट को लोगों तक पहुंचाने के लिए वोडाफोन जमीनी स्तर के संपर्क एवं जारूकता पहलों द्वारा ग्राहकों से जुड़ रहा है। नतीजतन, डेटा रेवेन्यू में 3जी का योगदान 55 फीसदी है जबकी डेटा वॉल्यूम में इसका 60 फीसदी योगदान है। साल दर साल डेटा में 90 फीसदी की बढ़ोत्तरी हो रही है और इनेबल्ड हैंडसेट रखने वालों में से 50 प्रतिशत लोग डेटा का इस्तेमाल करते हैं। बढ़ती हुई सर्विस रेवेन्यू में डेटा रेवेन्यू का योगदान 35 प्रतिशत है।

श्री थपलियाल ने बताया कि वोडाफोन ने वित्तीय वर्ष 14-15 के दौरान 800 नई 3जी साइट्स के साथ नेटवर्क कवरेज को बढ़ाते हुए ग्राहकों के अनुभव को बेहतर बनाया है,  इसके अतिरिक्त सर्कल में 17.6 मिलियन सब्सक्राइबर बेस को तैयार करने के लिए इन 12 महीनों में 19 लाख से अधिक ग्राहकों को जोड़ा गया और 3जी रेवेन्यू में 180 फीसदी का इजाफा।