आईपीएल: पंजाब ने जीता मैच, हरभजन ने दिल

आईपीएल: पंजाब ने जीता मैच, हरभजन ने दिल

मुंबई : कप्तान जार्ज बेली के 32 गेंद में नाबाद 61 रन के बाद अपने गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन की मदद से किंग्स इलेवन पंजाब ने आईपीएल के मैच में रविवार को मुंबई इंडियंस को 18 रन से हराया और हरभजन सिंह की आक्रामक 24 पर 64 रनों की तूफानी पारी भी इस हार को टाल नहीं सकी। पर यह अवश्य कहना पड़ेगा की एक समय बेजान हो चुके मैच हरभजन की आतिशी पारी ने जान डाल और और मायूस मुंबई इंडियंस के समर्थकों को ख़ुशी से सराबोर कर दिया । हरभजन की शानदार बल्लेबाज़ी का मुकेश अम्बानी ने भी लुत्फ़ उठाया। 

पंजाब ने पहले बल्लेबाजी के लिये भेजे जाने पर पांच विकेट खोकर 177 रन बनाये। बेली ने अपनी पारी में चार चौके और तीन छक्के लगाये। जवाब में मुंबई की टीम 20 ओवर में सात विकेट पर 159 रन ही बना सकी। उसके उपरी क्रम के सभी नामी गिरामी बल्लेबाज नाकाम रहे और आठवें नंबर पर उतरे हरभजन सिंह ने सिर्फ 24 गेंद में पांच चौकों और छह छक्कों की मदद से 64 रन बनाकर टीम को शर्मनाक स्कोर पर सिमटने से बचाया।

मुंबई को दूसरी ही गेंद पर संदीप शर्मा ने झटका दिया जब मेजबान कप्तान रोहित शर्मा खाता खोले बिना पगबाधा आउट हो गए। आरोन फिंच : 8 :, आदित्य तारे : 7 : , और कोरे एंडरसन : 5 : दोहरे अंक तक भी नहीं पहुंच पाये । अंबाती रायुडू : 13 : और वेस्टइंडीज के पिंच हिटर कीरोन पोलार्ड : 20 : भी कोई कमाल नहीं कर सके।

मुंबई के छह विकेट 14वें ओवर में सिर्फ 59 रन पर गिर गए थे और लग रहा था कि टीम बड़े अंतर से हारेगी लेकिन हरभजन ने जुझारू और आक्रामक पारी खेलते हुए मेजबान को इस शर्मिंदगी से बचाया।

पंजाब के लिये मिशेल जानसन, अनुरीत सिंह और अक्षर पटेल ने दो दो विकेट लिये। मुंबई की यह लगातार दूसरी हार है जिसे पहले मैच में कोलकाता नाइट राइडर्स ने एक रन से हराया था। वहीं पंजाब ने राजस्थान रायल्स से पहला मैच हारने के बाद जीत का स्वाद चखा।

इससे पहले बल्लेबाजी के लिये भेजी गई पंजाब टीम को सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग और मुरली विजय ने आक्रामक शुरूआत दी। सहवाग ने सिर्फ 19 गेंद में छह चौकों और एक छक्के की मदद से 36 रन बनाये जबकि विजय ने 29 गेंद में छह चौकों के साथ 35 रन बनाये। विजय ने पहले ही ओवर में आर विनय कुमार को दो चौके लगाकर अपने इरादे जाहिर कर दिये थे।

सहवाग ने उसे तीसरे ओवर में दो चौके और एक छक्का जड़कर अपने हाथ खोले। पंजाब के 50 रन छठे ओवर में ही पूरे हो गए। खतरनाक हो चली इस साझेदारी को अनुभवी स्पिनर हरभजन सिंह ने तोड़ा जिन्होंने सातवें ओवर की चौथी गेंद पर सहवाग को आउट किया। उनका कैच लांग आन पर कीरोन पोलार्ड ने लपका।

इस समय पंजाब का स्कोर 60 रन था। अगले ओवर में आस्ट्रेलियाई स्टार ग्लेन मैक्सवेल भी पवेलियन लौट गए जिन्होंने सिर्फ छह रन बनाये। जगदीशा सुचित ने उन्हें अंबाती रायुडू के हाथों लपकवाकर आईपीएल में अपना पहला विकेट लिया।

हरभजन ने विजय के रूप में दूसरा विकेट 11वें ओवर में मिला जिनका कैच सुचित ने लपका। पंजाब के तीन विकेट 88 रन पर गिर गए। इसके बाद डेविड मिलर और बेली ने मिलकर पारी को संभाला। मिलर ने 23 गेंद में तीन चौकों की मदद से 24 रन बनाये और कप्तान बेली का दूसरे छेार से पूरा साथ दिया। दोनों ने चौथे विकेट के लिये 46 रन की साझेदारी की।

श्रीलंका के तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा ने मिलर को विकेट के पीछे आदित्य तारे के हाथों लपकवाकर इस साझेदारी को तोड़ा। इस बीच बेली ने सुचित और विनय को लगातार ओवरों में लांग आन पर छक्के जड़कर रन गति को बनाये रखा। आखिरी ओवर में उन्होंने पवन सुयाल को दो चौके लगाये।

मुंबई के लिये मलिंगा ने चार ओवर में 34 रन देकर और हरभजन ने 20 रन देकर दो दो विकेट लिये।