IPL: चेन्नई सुपरकिंग्स ने सनराइजर्स हैदराबाद को 45 रनों से हराया

IPL: चेन्नई सुपरकिंग्स ने सनराइजर्स हैदराबाद को 45 रनों से हराया

चेन्नई : आईपीएल के आठवें संस्करण के चौथे मैच में चेन्नई सुपरकिंग्स ने सनराइजर्स हैदराबाद को 45 रनों से हरा दिया। इसके साथ ही इस टूर्नामेंट में चेन्नई ने अब तक अपना रिकॉर्ड बिल्कुल दुरुस्त रखा है यानी लगातार दो मैचों में जीत।

सनराइजर्स के सामने जीत के लिए 210 रनों का लक्ष्य था, लेकिन टीम निर्धारित ओवरों में छह विकेट के नुकसान पर केवल 164 रन ही बना सकी।

सनराइजर्स के कप्तान और सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर ने टीम की ओर से सर्वाधिक 53 रनों का योगदान दिया। अपने 42 गेंदों की पारी में वार्नर ने तीन छक्के और एक चौका लगाया। सुपरकिंग्स की ओर से मोहित शर्मा और ड्वायन ब्रावो ने दो-दो विकेट हासिल किए। ईश्वर पांडे तथा रविचंद्रन अश्विन को एक-एक सफलता मिली।

चेन्नई को अपने पहले मैच में जीत के लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ी थी और मुक़ाबला नतीजे के लिए आख़िरी गेंद तक खिंचा था। मैच के बाद कप्तान धोनी ने कहा था कि बल्लेबाज़ों को थोड़े और रन बनाने चाहिए थे।

हैदराबाद के ख़िलाफ़ दूसरे मैच में ब्रेंडन मैक्कलम ने धोनी को शिकायत का मौक़ा नहीं दिया और शानदार शतक लगाकर चेन्नई की जीत की नींव रख दी। मैक्कलम के बल्ले से आईपीएल-8 का पहला शतक आया। सात साल पहले आईपीएल का पहला शतक भी मैक्कलम के बल्ले से ही आया था। ये अलग बात है कि तब उनका बल्ला कोलकाता नाइटराइडर्स टीम के लिए बोला था।

'बाज़' के नाम से जाने जाने वाले ब्रेंडन मैक्कलम को आईपीएल-8 के पहले शतक के लिए आख़िरी तीन गेंदों पर 11 रनों की ज़रूरत थी। बोल्ट की गेंद पर छक्का जड़ने के लिए मैक्कलम ने बल्ले को बस सही जगह पर रखा और गेंद विकेटकीपर के सिर के ऊपर से छह रन के लिए निकल गई।

मैक्कलम ने सिर्फ़ 56 गेंदों पर नाबाद शतक (100* रन) लगाकर सात साल पहले आईपीएल के पहले ही दिन अपनी तूफ़ानी पारी की याद ताज़ा कर दी। उनके आउट होने से थोड़ी देर पहले कप्तान धोनी भी कुछ ऐसा ही तूफ़ान खड़ा कर लौटे। कप्तान धोनी ने सिर्फ़ 29 गेंदों पर चार चौके और चार छक्के लगाकर 53 रन बनाए। आईपीएल में धोनी की ये 17वीं हाफ़ सेंचुरी है।

इससे पहले ड्वेन स्मिथ 27 और सुरेश रैना 14 के स्कोर पर रन आउट हुए, लेकिन हैदराबाद को जीत के लिए विशाल 210 रनों का लक्ष्य मिला। शिखर धवन और डेविड वॉर्नर ने तेज़ रफ़्तार से लक्ष्य का पीछा करने की कोशिश की। धवन 26 और वॉर्नर 42 गेंदों पर 53 रन बनाकर वापस लौटे। इस बीच विकेट गिरते रहे और दबाव बढ़ता रहा।

रवि बोपारा ने 15 गेंदों पर 22 और नमन ओझा ने 11 गेंदों पर 15 रन बनाए। आख़िरी ओवर में केन विलियम्सन ने छक्के के सहारे 18 गेंदों पर नाबाद 26 रन बनाए, लेकिन ये सब हैदराबाद को जीत की दहलीज़ तक नहीं पहुंचा सकते थे।