सीरियाई फोर्सेज का हवाईअड्डे पर फिर क़ब्ज़ा, संघर्ष में 35 की मौत

सीरियाई फोर्सेज का हवाईअड्डे पर फिर क़ब्ज़ा, संघर्ष में 35 की मौत

बेरूत : सरकार समर्थित बलों ने सीरियाई हवाईअड्डे पर एक हमले को टाल दिया और उग्रवादियों के साथ संघर्ष के दौरान उसके 20 जवान मारे गए हालांकि इतनी ही संख्या में उग्रवादी भी मारे गए।

एक निगरानी समूह सीरियन ऑब्जर्वेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स के प्रमुख रमी अब्दल रहमान ने बताया, शुक्रवार को स्वेदा प्रांत में खालखालाह सैन्य हवाई अड्डे के बाहरी क्षेत्रों में हमला हुआ। राष्ट्रपति बशर अल असद के वफादार इन बलों ने हवाईअड्डे और इसके आसपास के इलाकों पर वापस नियंत्रण बना लिया है। इस क्रम में उनके 20 जवान मारे गए और 15 उग्रवादी ढेर हो गए।

अब्दल रहमान ने बताया कि उनका समूह अभी हमलावरों की पहचान की पुष्टि होने का इंतजार कर रहा है। वे इस्लामिक स्टेट समूह (आईएस) से जुड़े जिहादी भी हो सकते हैं। खालखालाह हवाईअड्डा सीरिया का एक प्रमुख अड्डा है। राष्ट्रपति असद का शासन सीरिया के अल्पसंख्यकों की विदेशों से समर्थन मिल रहे इस्लामवादियों से सुरक्षा करने का दावा करता है, लेकिन आईएस के उभार के बाद से अल्पसंख्यकों को खतरा बढ़ता जा रहा है।