समाज के सभी वर्गों को बराबरी का दर्जा देने के लिए सरकार संकल्पित: अखिलेश

समाज के सभी वर्गों को बराबरी का दर्जा देने के लिए सरकार संकल्पित: अखिलेश

मुख्यमंत्री ने जनपद बस्ती के विकास के लिए 55 परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास किया

बस्ती :उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री  अखिलेश यादव ने आज जनपद बस्ती के चंगेरवा में आयोजित चंगेरवा महोत्सव के समापन के अवसर पर आयोजित सभा को सम्बोधित करते हुए हरैया तहसील में सौ बेड के महिला चिकित्सालय की स्थापना, हरैया मण्डी समिति के निर्माण, ग्राम बनकटी को नगर पंचायत का दर्जा देने, बस्ती विकास प्राधिकरण बनाने, मखौड़ा धाम के सौन्दर्यीकरण, जनपद की विभिन्न नदियों पर पांच पुलों के निर्माण की स्वीकृति प्रदान की। उन्होंने कहा कि जनपद मुख्यालय पर मेडिकल काॅलेज तथा इंजीनियरिंग काॅलेज की स्थापना की जाएगी। उन्होंने चंगेरवा का नाम बदलकर शुभम नगर करने तथा विकास खण्ड के विषय में शीघ्र निर्णय का आश्वासन भी दिया।

कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री ने श्रम विभाग द्वारा संचालित योजनाओं के अन्तर्गत पंजीकृत श्रमिकों को 655 साइकिलों, 848 सोलर लाइटों, 90 लाभार्थियों को 5 लाख 15 हजार रुपए के चेक, लोहिया आवास से संबंधित स्वीकृति पत्र, समाजवादी पेंशन योजना के लाभार्थियों को परिचय पत्र तथा बैकयार्ड पोल्ट्री योजना के अन्तर्गत एक हजार लाभार्थियों को 30 लाख रुपए की सहायता का वितरण भी किया। 

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने बस्ती के विकास के लिए 24 परियोजनाओं का लोकार्पण तथा 31 परियोजनाओं का शिलान्यास भी किया। उन्होंने बस्ती प्रेस क्लब तथा पंचायत विभाग द्वारा निर्मित 102 लाख रुपए की लागत से निर्मित शुभम अतिथि गृह का भी लोकार्पण किया।

अपने सम्बोधन में मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश की समाजवादी सरकार द्वारा अनेक विकास कार्यक्रम चलाए गए हैं। समाज के कमजोर वर्गों को बेहतर शिक्षा और उनके आर्थिक उन्नयन के लिए समाजवादी पेंशन योजना और लोहिया ग्रामीण आवास योजना जैसी महत्वाकांक्षी योजनाओं को लागू करके राज्य सरकार ने सार्थक पहल की है। सरकार समाज के सभी वर्गों को सम्मान और बराबरी का दर्जा देने के लिए संकल्पित है। 

श्री यादव ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा किसानों के हित में सिंचाई शुल्क की माफी, बंद पडे़ सहकारी बैंकों को विशेष आर्थिक सहायता देकर पुनः चालू करवाने, आपदा एवं ओलावृष्टि से प्रभावित किसानों को केन्द्र सरकार की तुलना में दोगुनी क्षतिपूर्ति देने का निर्णय लिया है। राज्य सरकार ने केन्द्र सरकार से किसानों के हित में ओलावृष्टि और बेमौसम हुई बरसात से हुए नुकसान की क्षतिपूर्ति के मामले में किसानों को 25 प्रतिशत के नुकसान पर भी क्षतिपूर्ति दिए जाने का अनुरोध किया है। किसानों का सामाजिक स्तर ऊँचा उठाने के लिए और उन्हें बेहतर सुविधाओं एवं संसाधनों से आच्छादित करने हेतु इस वित्तीय वर्ष को ‘किसान वर्ष’ घोषित किया गया है। इस वित्तीय वर्ष के बजट को भी किसानों के हितोन्मुखी बनाया गया है। बजट का अधिकांश हिस्सा किसानों के हित मंे व्यय किया जाना राज्य सरकार की शीर्ष प्राथमिकताओं मे शामिल है। गन्ने एवं गेहूं के समर्थन मूल्य के भुगतान हेतु प्रभावी कार्यवाही की जा रही है। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि युवाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने की दृष्टि से राज्य सरकार ने विभिन्न पदों की भर्तियां करने का निर्णय लिया है। पुलिस भर्ती प्रक्रिया में उन्होंने कार्मिकों के बेहतर प्रशिक्षण पर जोर देते हुए कहा कि इस दिशा में विशेष प्रयास किए जा रहे हैं। 

श्री यादव ने कहा कि स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार के लिए इस वर्ष 500 अतिरिक्त समाजवादी एम्बुलेंस को मौजूदा एम्बुलेंस बेडे़ में शामिल करने का निर्णय लिया गया है। राज्य सरकार गरीबों को अच्छी और मुत चिकित्सा सुविधा देने के लिए प्रतिबद्ध है। कानून व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए राज्य सरकार द्वारा किए जा रहे प्रयासों पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने कहा कि ग्रामीण इलाकों में जरूरतमंदों को तत्काल पुलिस सहायता मिल सके, इसके लिए पुलिस व्यवस्था को हाईटेक और त्वरित प्रभावी बनाने का निर्णय लिया गया है। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी भी समाज के विकास के लिए शिक्षा, सड़क और विद्युत की उपलब्धता अत्यन्त महत्वपूर्ण हैं। प्रदेश की विद्युत व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त की जा रही है। प्रदेश में विद्युत उत्पादन बढ़ाने के लिए अनपरा-डी परियोजना की 500 मेगावाट की पहली इकाई शुरू हो गई है। आने वाले महीनों में दो और विद्युत उत्पादन परियोजनाओं को शुरू करने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने अधिकारियों को सचेत किया कि सरकार द्वारा लागू की जाने वाली योजनाओं का क्रियान्वयन पूर्ण क्षमता और मनोयोग से किया जाए। 

श्री यादव ने कहा कि हस्तशिल्पियों एवं बुनकरों को उनके उत्पाद आम लोगों तक पहुंचाने के लिए लखनऊ, गाजियाबाद तथा नोएडा में बाजार स्थापित करने का भी निर्णय लिया गया है। 

समारोह में लघु सिंचाई एवं पशुधन मंत्री श्री राजकिशोर सिंह, ग्राम्य विकास राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री अरविन्द कुमार सिंह गोप, खेलकूद राज्यमंत्री श्री रामकरन आर्य, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य राज्यमंत्री श्री शंखलाल मांझी, माध्यमिक शिक्षा राज्यमंत्री श्री विनोद कुमार सिंह उर्फ पंडित सिंह तथा सांसद श्रीमती डिम्पल यादव भी उपस्थित थे।

Uttar Pradesh, India