महिलाओं को समृद्ध बनाना ही सरकार का उद्देश्य: शिवपाल

महिलाओं को समृद्ध बनाना ही सरकार का उद्देश्य: शिवपाल

सहकारिता मंत्री ने महिला समृद्धि योजना के अन्तर्गत महिलाओं को ऋण वितरण के प्रमाण पत्र बांटे 

लखनऊ: सहकारिता मंत्री एवं उ0प्र0 सहकारी ग्राम विकास बैंक लि0 के सभापति शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि बैंक की वित्तीय स्थिति को सुधारने व प्रदेश के गरीब किसानों के ऋणों को माफ करते हुए राज्य सरकार ने बैंक को रू0 1788.00 करोड़ की धनराशि उपलबध करा दी है। उन्होंने कहा कि बैंक विगत दो वर्षो से लाभ की स्थित में है और वित्तीय वर्ष 2014-15 में भी लाभ पर रहा है। श्री यादव ने कहा कि इस वर्ष कुल रू0 560.00 करोड़ का ऋण वितरण किया गया है और प्रदेश के पिछड़े वर्ग की महिलाओं को कम ब्याज पर बैंक द्वारा ऋण उपलब्ध कराया जायेगा 

सहकारिता मंत्री शिवपाल सिंह यादव आज उ0प्र0 सहकारी ग्राम विकास बैंक लि0, लखनऊ के प्रांगण मे आयोजित ’’महिला स्वाश्रीयता एवं सशक्तीकरण की दिशा मे एक पहल’’ कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। श्री यादव ने कहा कि भविष्य में महिलाओं के विकास एवं उन्हें आत्मनिर्भर बनाने के लिए कई नई योजनाएं भी लागू की जायेगी। उन्होंने कहा कि इन योजनाओं से बैंक को लाभ होगा तथा इसके साथ ही प्रदेश के छोटे व ग्रामीण क्षेत्र के गरीब किसानों को भी लाभ पहुॅचेगा।  सहकारिता  मंत्री  ने  कहा  कि  प्रदेश का प्रत्येक ग्रामीण अपनी आर्थिक प्रगति में बैंक को हमेशा साथ पायेगा ऐसी प्रदेश सरकार की मंशा है।

श्री यादव ने कहा कि वर्तमान सरकार सदैव जहां भी किसान दिक्कत मे होंगे व महिलाएं परेशानी मे होंगी मदद करने के लिए तैयार रहेगी। उन्होंने कहा कि महिलाएं प्रबन्धन क्षमता मे पुरूषांे से अधिक योग्य होती हैं। 

वे व्यवसाय करते हुए भी बच्चों एवं घर की जिम्मेदारी को बेहतर तरीके से निभाती है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार का प्रयास है कि हम महिलाओं की आशाओं पर खरे उतरें तथा उनके सपनों को पूरा करने का सभी सम्भव प्रयास किया जायेगा। श्री यादव ने कहा कि जल संसाधन विभाग भी महिलाओं के ग्रुप बनाकर व्यवसाय करने पर 25 हजार का ऋण देकर लाभान्वित कर रहा है। 

इस अवसर पर सहकारिता मंत्री ने उ0प्र0 सहकारी ग्राम विकास बैंक लि0 द्वारा राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग वित्त एवं विकास निगम के सौजन्य से प्रदेश के पिछड़े वर्ग की गरीब महिलाओं कों महिला समृद्धि योजना के अन्तर्गत 3 प्रतिशत ब्याज दर पर ऋण वितरण के प्रमाण पत्र दिये। उन्होंने कहाकि प्रदेश के पिछड़े वर्ग की गरीब महिलाओं को विभिन्न व्यवसायों हेतु कम ब्याज दर पर ऋण उपलब्ध कराकर उन्हें समाज की मुख्यधारा में शामिल करने तथा आर्थिक  रूप से सबल व समृद्ध बनाकर समाज में उनका उचित स्थान सुनिश्चित करने हेतु इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया यह एक सराहनीय प्रयास है।

पीसीएफ के सभापति श्री आदित्य यादव ने कहा कि महिलाए इस योजना का पूरा लाभ उठायें। उन्होंने कहा कि सहकारिता के क्षेत्र में महिलाएं प्रत्येक देशों मे आगे बढ़कर काम कर रही है तथा काम को जल्दी से जल्दी सीखकर पुरूषों से आगे निकलने की कोशिश कर रही है। श्री यादव ने कहा कि ग्रामीण महिलाएं कढ़ाई, बुनाई, एवं सिलाई के माध्यम से खुद को आत्मनिर्भर बनाने का सराहनीय काम किया है। 

इस अवसर पर प्रमुख सचिव सहकारिता शैलेष कृष्ण, अलोक दीक्षित एवं सहकारिता विभाग , ग्राम विकास बैंक, पीसीएफ तथा बड़ी संख्या में महिलाएं उपस्थित थी।

Lucknow, Uttar Pradesh, India