लैंड बिल को भाजपा ने बनाया प्रतिष्ठा का प्रश्न

लैंड बिल को भाजपा ने बनाया प्रतिष्ठा का प्रश्न

बेंगलूरू। भूमि अधिग्रहण विधेयक भारतीय जनता पार्टी ने प्रतिष्ठा का प्रश्न बना लिया है । गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने आज कहा कि इस बिल के बारे में लोगों को घर घर जाकर जागरूक किया जाएगा । उन्होंने विपक्षी पार्टियों, खासकर कांग्रेस पर भूमि अधिग्रहण विधेयक के खिलाफ दुष्प्रचार करने का आरोप लगाया है। भाजपा ने कहा कि सरकार इस विधेयक के प्रावधानों को जमीनी स्तर पर लोगों को समझाने का प्रयास करेगी। भाजपा प्रवक्ता निर्मला सीतारमण ने संवाददाताओं से कहा कि जहां तक भूमि विधेयक का संबंध है, हम इसके खिलाफ दुष्प्रचार के अभियान से चिंतित हैं। यह सच के विपरीत है। 

भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की दो दिवसीय बैठक के दौरान भूमि अधिग्रहण को लेकर एक बुकलेट भी जारी की गई। इसमें बिल के पक्ष में नीतिन गडकरी और अरूण जेटली समेत नौ नेताओं के लेख प्रकाशित किए गए हैं। बिल को लेकर 19 अप्रेल को दिल्ली में बैठक भी की जाएगी और सरकार के 10 महीने के कार्यकाल में इसका उल्लेख भी होगा। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने इस बारे में कहा कि, कांग्रेस महज राजनीतिक फायदे के इस कानून में अड़ंगें लगा रही ताकि सरकार के विकास कार्य रफ्तार नही पकड़ सकें। 

हम पिछले कानून में किए गए संशोधनों और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा इसे रेडियो पर सीधे तौर पर लोगों को समझाने को लेकर आश्वस्त हैं। हम इस पर किसी के साथ भी चर्चा के लिए तैयार हैं। भाजपा लोगों के पास जाएगी और उनसे पूछेगी कि क्या उनके द्वारा किया गया संशोधन किसान विरोधी है। यह एक दुष्प्रचार अभियान है, जिसे फैलाने का प्रयास खासकर कांग्रेस कर रही है। राजनाथ ने भी कहाकि, 15 कार्यकर्ता संसद से लेकर पंचायत तक इस बिल को लेकर जनता को जागरूक करेंगे। शिवसेना को भी इस बिल पर साथ लाया जाएगा।

India