तुर्की में मिला पांच हजार वर्ष  पुराना भूमिगत शहर

तुर्की में मिला पांच हजार वर्ष पुराना भूमिगत शहर

अंकारा। तुर्की में पांच हजार वर्ष पुराने एक भूमिगत शहर के अवशेष मिले हैं। इस शहर के लिए विशेष रूप से कोई खोज शुरू नहीं की गयी थी बल्कि पुरानी इमारतों को ढहाए जाने और उसका मलबा हटाने के दौरान इस शहर के खंडहर मिले। तुर्की के एक समाचार पत्र की खबरों के अनुसार देश के नेवसेहिर प्रांत में कुछ पुराने घरों को गिराने का काम चल रहा था। 

श्रमिक जब मलबा हटा रहे थे तभी उन्हें वहां करीब 7 किलोमीटर लंबी एक सुरंग का पता चला। निमार्ण कार्यो की देख रेख कर रहे अधिकारी जब इस सुरंग के रास्ते आगे बढ़े तो उन्हें एक शहर के खंडहर मिले। भूगर्भ वैज्ञानिकों ने जब इन खंडहरों की जांच की तो पता चला कि वहां कोई पांच हजार वर्ष पहले एक भूमिगत नगर बसाया गया था। इसकी बसावट कोई पचास लाख वर्ग फुट में फैली थी। यह नगर जमीन के कोई 371 फुट नीचे बसाया गया था। इसकी आबादी कोई 20 हजार थी। 

एक चैनल के अनुसार ऎसा प्रतीत होता है कि विदेशी आक्रमणकारियों से बचने के लिए इस शहर को बसाया गया था। इसकी बसाहट का समय तुर्की के प्राचीन ऑटोमन साम्राज्य के काल का प्रतीत होता है। शहर में घरों और सड़कों और गलियों का निमार्ण कार्य बहुत ही संतुलित और वैज्ञानिक तरीके से किया गया था। इसके खंडहरों में एक ऐसी बहुमंजिली इमारत मिली है, जिसमें अलग रसोई, ऊपर जाने के लिए सीधी और घुमावदार सीढियां, स्नानघर, बरामदे, पत्थर की चक्कियां, रोशनदान, पानी आपूर्ति की लाइनें और यहां तक कि दीप रखने वाले आले भी बने हुए हैं। शहर में कई गुप्त रास्तों का भी पता चला है, जिनका इस्तेमाल संभवत आपातकाल में सुरक्षित बाहर निकलने के लिए किया जाता होगा। 

शहर को देखकर पुरातत्वविद् आश्चर्य में हैं। वह और भी खोज करना चाहते हैं, लेकिन शहर के नीचे और उसके आसपास की मिट्टी बेहद भुरभुरी सी होने के कारण वहां और खुदाई से खंडहरों को नुकसान पहुंचने की आशंका है, इसलिए इसका काम विशेष दल को सौंपने की तैयारी की जा रही है। इसके पहले खंडहरों के बारे में विस्तृत जानकारी हासिल करने के लिए जियो रडार मशीनों का इस्तेमाल किया जाएगा।