आप मीटिंग में मारपीट, योगेन्द्र-प्रशांत राष्ट्रीय परिषद से निकाले गए

आप मीटिंग में मारपीट, योगेन्द्र-प्रशांत राष्ट्रीय परिषद से निकाले गए

नई दिल्ली: AAP राष्ट्रीय परिषद की मीटिंग से बाहर आते हुए योगेंद्र यादव ने कहा कि आज लोकतंत्र की हत्या हुई है, कई लोगों के साथ मारपीट हुई। योगेंद्र ने कहा, बैठक का ड्रामा किया गया था यहां तो बाउंसरों को बुलाया गया था। उधर प्रशांत भूषण ने कहा कि कल लीक हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के स्टिंग को यहां सच साबित किया गया, लात-घूसे मार कर, घसीटकर लोगों को बाहर किया गया। उन्होंने कहा कि यहां गुंडों को मीटिंग में बुलाया गया था, जिनमें से कुछ को हम विधायक भी कहते हैं।

इससे पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल अचानक मीटिंग छोड़कर वापस अपने घर लौट गए। दिल्ली के कापसहेड़ा में आम आदमी पार्टी की राष्ट्रीय परिषद की मीटिंग हुई। यहां अंदर पार्टी के वरिष्ठ नेता मीटिंग कर रही थी और बाहर कार्यकर्ताओं का जमावड़ा लगा रहा।

इससे पहले जब योगेंद्र यादव मीटिंग के लिए पहुंचे तो उनके साथ धक्का-मुक्की हुई और उनके खिलाफ जमकर नारेबाजी भी हुई। अपने समर्थकों को मीटिंग में अंदर नहीं आने देने के मुद्दे पर योगेंद्र यादव वहीं बैठक स्थल के बाहर ही धरने पर बैठ गए। हालांकि बाद में दोनों पक्षों में समझौता हुआ और योगेंद्र यादव बैठक में शामिल होने के लिए अंदर चले गए।

आम आदमी पार्टी की राष्ट्रीय परिषद की बैठक में योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण को पार्टी से निकाला जाना पहले से ही तय माना जा रहा था। अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व वाले धड़े तथा असंतुष्ट नेताओं प्रशांत भूषण एवं योगेंद्र यादव के बीच का विवाद और गहरा गया, जब इन दोनों ने पार्टी नेतृत्व को खुलकर चुनौती दी। केजरीवाल धड़े का आरोप है कि दोनों ने केजरीवाल को 'आप' के राष्ट्रीय संयोजक के पद से हटाने के लिए कथित तौर पर साजिश रची।

पार्टी के दोनों धड़ों के बीच चल रहे तीखे वाक युद्ध के बीच शुक्रवार को नया आडियो टेप सामने आया, जिसमें केजरीवाल पार्टी के एक स्वयंसेवी से बातचीत करते हुए भूषण और यादव के खिलाफ कथित तौर पर अभद्र भाषा का इस्तेमाल कर रहे हैं।

India