समय रहते पूरी हो बाढ़ से निपटने की तैयारी:प्रमुख सचिव

समय रहते पूरी हो बाढ़ से निपटने की तैयारी:प्रमुख सचिव

कई साल से जमे अभियन्ताओं का होगा स्थानान्तरण, प्रक्रिया अप्रैल से

लखनऊ: सिंचाई विभाग के प्रमुख सचिव दीपक सिंघल ने सभी सिंचाई विभाग के अभियन्ताओं/अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि सिंचाई मंत्री शिवपाल सिंह यादव आगामी अपै्रल माह से ही बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का निरीक्षण/दौरा प्रारम्भ कर देंगे। उन्होंने कहा कि मा0 मंत्री जी का स्पष्ट निर्देश है कि बाढ़ आने से पहले ही सारी तैयारियों की समीक्षा कर ली जाये तथा जो भी कमी हो उसे ठीक/दुरूस्त करा लिया जाये। उन्होंने अभियन्ताओं को निर्देश देते हुए कहा कि बाढ़ आने पर किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी। श्री सिंघल ने कहा कि प्रदेश की जनता की बाढ़ से सुरक्षा करना ही सरकार की प्राथमिकता है इसलिए अभी से कार्ययोजना बनाकर तैयारी कर ली जाये।

प्रमुख सचिव दीपक सिंघल आज तेलीबाग लखनऊ स्थित परिकल्प भवन में विभाग के अभियन्ताओं/अधिकारियों के साथ मा0 मंत्री जी के निर्देश पर बाढ़ तैयारियों की समीक्षा कर रहे थे। उन्हांेंने कहा कि हमें कार्यशैली में परिवर्तन लाना होगा तथा पूरी पारदर्शिता के साथ निष्पक्ष तरीके से ऐसा कार्य करना होगा जो पूरी तरह से जनता के हित में हो। श्री सिंघल ने कहा कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में बाँधों की मरम्मत इस तरह से किया जाये कि उस पर आवश्यकता पड़ने पर हेलीकाप्टर उतारा जा सके। उन्होंने कहा कि नेपाल तथ बार्डर से लगे हुए क्षेत्र जहाॅ बाढ़ अधिक आती है वहाँ पर पूरी ईमानदारी एवं पारदर्शी तरीके से बाढ़ से निपटने की तैयारी की जाये। तथा शीघ्र ही सिंचाई मंत्री यहाॅ आकर स्थलीय निरीक्षण भी करेंगे।

प्रमुख सचिव नें निर्देश दिये कि ठेकेदारों को संरक्षित करनें वाले अधिकारी किसी भी कीमत पर बक्से नहीं जायेंगे। उन्होंने कहा कि जनता का हित ही प्रदेश सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि आगामी माह अप्रैल से स्थानान्तरण प्रक्रिया प्रारम्भ कर दी जायेगी तथा जो कामचोर  या निकम्मे अधिकारी हैं उनकी भी जिम्मेदारी सुनिश्चित करके कड़ी कार्रवाई की जायेगी। उन्होंने कहा कि कई सालों से जमे अभियन्ताओं का स्थानान्तरण इस बार निश्चित है। उन्होंने कहा कि मंत्री जी का स्पष्ट निर्देश है कि मुख्यालय पर जमंे अभियन्ता, अवर अभियन्ता सभी का इस बार स्थानान्तरण करकेे कार्यों के प्रति जवाबदेही निर्धारित की जाये।

 प्रमुख सचिव ने निर्देश दिये कि छोेटी नहरों एवं नदियों की तत्काल सिल्ट सफाई करके उनकी गहराई/पानी की क्षमता को बढ़ानें का कार्य पूर्ण कर लिया जाये ताकि बाढ़ के समय अधिक परेशानी का सामना न करना पड़े।

प्रमुख सचिव ने अधिकारियों/अभियन्ताओं को निर्देश दिये कि अभी से स्टीमर, नाॅव तथा जो भी वैकल्पिक व्यवस्था हो उसको खरीद ले या उसकी मरम्मत आदि करा लिया जाये। उन्होंने कहा कि मंत्री जी का स्पष्ट निर्देश हे कि इस बार लापरवाही करने वाले अधिकारी किसी भी कीमत पर बक्से नहीं जायंेगे तथा जो भी अधिकारी ईमानदारी एवं लगन से काम करेगा इनाम तथा सम्मानित भी किया जायेगा। उन्होंने कहा कि अभी भी हमारे पास तीन महीने का समय है इस लिए पूरी तैयारी पूर्ण करलें और कहीं कोई परेशानी या पैसे की समस्या आती है तो तत्काल हमे अवगत करायें ताकि समय रहते उसका समाधान किया जा सके।

Lucknow, Uttar Pradesh, India