चाहे कोई भी जीते, पर रचेगा इतिहास

चाहे कोई भी जीते, पर रचेगा इतिहास

साउथ अफ्रीका-न्यूज़ीलैंड के बीच सेमी फाइनल कल 

नई दिल्ली। क्रिकेट वर्ल्ड कप का खुमार क्रिकेट प्रेमियों के सिर चढ़कर बोल रहा है। एक के बाद एक रिकॉर्ड बन और टूट रहे हैं। टूर्नामेंट अपने अंतिम पड़ाव पर पहुंचने को है। 24 मार्च को न्यूजीलैंड और द. अफ्रीका के बीच पहला मुकाबला होगा। जबकि 26 फरवरी को भारत और मेजबान ऑस्ट्रेलिया भिड़ेंगे। पहले सेमीफाइनल मैच के साथ ही नया इतिहास बनेगा।

वर्ल्ड कप का पहला सेमीफाइनल मेजबान न्यूजीलैंड और दक्षिण अफ्रीका के बीच खेला जाना है। टीम चाहे कोई भी जीते एक नया रिकॉर्ड बने। न्यूजीलैंड अब तक 7 बार सेमीफाइनल में पहुंच चुकी है। लेकिन एक बार भी वह फाइनल में नहीं पहुंच सकी है। उधर, द. अफ्रीका 1991 में क्रिकेट जगत में वापसी करने के बाद 2 बार सेमीफाइनल में पहुंच चुकी है। ऐसे में जीते कोई भी इतिहास बनना तय है क्योंकि दोनों में से एक टीम का पहली बार फाइनल में पहुंचना तय है।

अब तक के सभी टूर्मानेंट में न्यूजीलैंड अब तक सबसे अनलकी टीम रही है क्योंकि वह अब तक 7 बार सेमीफाइनल में पहुंच चुकी है। लेकिन एक बार भी वह फाइनल में नहीं पहुंच सकी है। वहीं 1991 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी करने वाली द. अफ्रीकी टीम 2 बार सेमीफाइनल में पहुंची है लेकिन दोनों बार किस्मत उसे दगा दे गई। लेकिन इस बार दोनों में से एक टीम का फाइनल में पहुंचना तय है। इसी के साथ क्रिकेट में एक नया इतिहास बनेगा। विजेता टीम का मुकाबला भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच होने वाले दूसरे विजेता से होगा।

न्यूजीलैंड ने इस टूर्नामेंट में अभी तक कोई भी मैच नहीं गंवाया। मैकुलम की कप्तानी में टीम ने लगातार 7 मैच जीते हैं। वहीं द. अफ्रीका ने भारत और पाकिस्तान के खिलाफ मैच गंवाए हैं। ऐसे में कागज पर पलड़ा न्यूजीलैंड का ही भारी लगता है।