स्कूलों में धार्मिक किताबें पढ़ाना गलत: कुरैशी

स्कूलों में धार्मिक किताबें पढ़ाना गलत: कुरैशी

स्कूलों में सूर्य नमस्कार के फरमान के खिलाफ कोर्ट जायेगा मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड

नई दिल्ली: राजस्थान में सूर्य नमस्कार को स्कूलों में अनिवार्य किए जाने के मामले ने तूल पकड़ लिया है। जयपुर में जारी बयान में ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने कहा है कि वह इस फ़ैसले के ख़िलाफ़ हैं और ज़रूरत पड़ी तो इस फ़ैसले के ख़िलाफ़ अदालत से दखल की अपील करेंगे।

अपने 22वें अधिवेशन में बोर्ड ने कहा है कि मुस्लिम सूर्य नमस्कार नहीं कर सकते और उन्हें इसके लिए मजबूर न किया जाए। उन्होंने स्कूल में गीता पढ़ाने पर भी एतराज़ जताया और कहा कि स्कूलों में किसी भी धर्म की किताबें पढ़ाना ग़लत है।

ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के अब्दुर्रहीम कुरैशी ने पत्रकारों से सूर्य नमस्कार पर अपना सख्त विरोध दर्ज कराते हुए कहा कि सरकार को ऐसा कोई भी काम नहीं करना चाहिए कि जिससे वैमनस्यता बढे । अगर देश को तरक़्क़ी करना है तो यह बहुत ज़रूरी है कि देश में अंदरुनी भाईचारा क़ायम रहे । 

दरअसल राजस्थान सरकार ने फरवरी महीने में राजस्थान के 48 हज़ार स्कूलों में सूर्य नमस्कार को अनिवार्य कर दिया था। इसी के चलते मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड नाराज़ है।

 

India