नॉएडा में युवा कांग्रेस का भूमि अधिग्रहण बिल के खिलाफ ज़ोरदार प्रदर्शन

नॉएडा में युवा कांग्रेस का भूमि अधिग्रहण बिल के खिलाफ ज़ोरदार प्रदर्शन

नॉएडा: भटटा पारसौल व क्षेत्र के किसानों के साथ युवा कांग्रेस ने जनपद गौतमबुद्धनगर के नॉएडा स्थित गौतम बुद्ध की मूर्ति के सामने आज जबरदस्त प्रदर्शन किया । विगत 13 मार्च  से यूथ कांग्रेस के नेतृत्व में मोदी सरकार के खिलाफ किसानों के हक में भटटा पारसौल गांव से पद यात्रा आरम्भ की थी, जिसमें यूथ कांग्रेस के राष्टीय अध्यक्ष अमरिन्द्र सिंह राजा बरार और पूर्व ग्रामीण विकास मंत्री जयराम रमेश, वरिष्ठ किसान नेता धीरेन्द्र सिंह ने शिरकत की थी। उसी परिदृश्य में यूथ कांग्रेस के आहावान पर गांव भटटा पारसौल व क्षेत्र के सैंकडों किसानों के साथ धीरेन्द्र सिंह ने गौतम बुद्ध की मूर्ति के समीप पहुॅचकर, वहां पहले से मौजूद यूथ कांग्रेस के जिलाध्यक्ष दीपक भाटी चोटीवाला और उनके साथियों की हौसला अफजायी की फिर उत्तर प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता धीरेन्द्र सिंह, किसान मजदूर संगठन के जिलाध्यक्ष चौधरी अमरपाल सिंह व दीपक भाटी चोटीवाला के नेतृत्व में सैंकडों किसानों एंव यूथ कार्यकर्ताओं ने मोदी एंव सरकार के खिलाफ जबरदस्त प्रदर्शन एंव नारेबाजी की। भटटा पारसौल के किसानों ने कहा की ’’किसान विरोधी नरेन्द्र मोदी व जमीन हमारी आपकी नही किसी के बाप की, आदि नारों के माध्यम से प्रदर्शन किया। इस अवसर पर उत्तर प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता धीरेन्द्र सिंह ने भटटा पारसौल के किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि ’’आपकी  जावंाजी और शहादत की इबारत जो 07 मई सन् 2011 के खूनी संघर्ष से तहरीर होकर देश के किसानों के लिए संगेबुनियाद कायम हुई थी और मुल्क के लिए किसानों की बहबूदी का आगाज हुआ था, उसी को अंजाम तक पहुॅचाने के लिए आज हम सबको इकटठा होकर मोदी सरकार की पूंजीवादी नीतियों को उखाड फेकने तक अपनी लडाई जारी रखेंगे।’’

यूथ कांग्रेस गौतमबुद्धनगर के जिलाध्यक्ष दीपक भाटी चोटीवाला ने कहा कि ’’यूथ  कांग्रेस किसानों की लडाई में उनके साथ खडी है।’’ 

यूथ कांग्रेस के राष्टीय अध्यक्ष अमरिन्द्र सिंह राजा बरार के नेतृत्व दिल्ली के रायसीना रोड से किसानों का जत्था पैदल मार्च करता हुआ जंतर-मंतर पहुॅचा। 

उत्तर प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता धीरेन्द्र सिंह ने दिल्ली के जंतर-मंतर पर उमडे हजारों की तादात में किसान व कांग्रेस कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि ’’इस देश के किसानो की तकदीर, मोदी की कलम से नहीं, बल्कि किसान के हल की फाली और मज़दूर की छेनी की नोंक से लिखी जायेगी"

बाद में सभी लोग जंतर-मंतर से संसद की ओर कूच कर गये, जिन्हे दिल्ली पुलिस ने घंटों पानी की बौछारों मारकर, जहां कार्यकर्ताओं का आक्रोश कम नही हुआ और नारेबाजी करते हुए पार्लियामेंट स्टेट में घुस गये और जबरदस्त नारेबाजी करते रहे। 

जिसका संचालन स्वयं राजा बरार ने किया और प्रदशर्न में मुख्य रूप से अहमद पटेल, जयराम रमेश, दीपेन्द्र हुडडा, सचिन पायलट, राज बब्बर, मिनाक्षी नटराजन,, गुलाबनवी आजाद, अजय माकन आदि अनेकों नेताओं ने संबोधित किया। बाद में सुरज हेगडे व उत्तर प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता धीरेन्द्र सिंह ने प्रदर्शन में उपस्थित सभी लोगों को धन्यवाद किया। 

उसके पश्चात सैंकडों किसान एंव युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने धीरेन्द्र सिंह व दीपक भाटी के नेतृत्व में गौतम बुद्ध की मूर्ति से नारे लगाते हुए 300 मीटर दिल्ली की और पद यात्रा की, जिसमें भटटा पारसौल के किसानों के अलावा किसान मजदूर संगठन के जिलाध्यक्ष चौधरी अमरपाल सिंह, मिर्जापुर के किसान देवेन्द्र सिंह, मेघराज सिंह, सुरेशचंद शर्मा, प्रमोद कुमार, कृष्ण भाटी, बंटी भाटी, फाजिल भाई, लालमन सिंह, मनोज भाटी, हरपाल सिंह, देशराज सिंह, वीरपाल सिंह, अर्जुन सिंह प्रधान सलारपुर, धर्मेन्द्र सिंह, इकबाल खांन, धर्मपाल सिंह, हरि बाबा, किरपाल मुनिम जी, राकेश भाटी, कपिल रौनीजा, रविन्द्र भाटी, जाकिर प्रधान अनवरगढ, बिजेन्द्र प्रधान, अमित कौशिक, आश मौहम्मद नेता जी, मौसम खांन, मौज्जम खांन आदि सैंकडों किसान व कांग्रेस कार्यकर्ता मौजूद रहे। 

Uttar Pradesh, India