किसानों की आजीविका छीनकर विकास न हो: मुख्यमंत्री

किसानों की आजीविका छीनकर विकास न हो: मुख्यमंत्री

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि समाजवादी सरकार राज्य के चहुँमुखी विकास के लिए कृतसंकल्प है। विगत तीन वर्षाें में राज्य को विकास पथ पर तेजी से आगे बढ़ाया गया है। प्रदेश सरकार डाॅ0 राम मनोहर लोहिया और जनेश्वर मिश्र जैसे समाजवादी चिंतकांे व नेताओं के विचारों और समाजवादी सिद्धान्तों पर काम करने वाली सरकार है। इसलिए राज्य सरकार ने अपनी नीतियों, कार्यक्रमों तथा योजनाओं से गांव, गरीब, किसान, वंचित वर्गांे, अल्पसंख्यकों, नौजवानों, छात्रों, महिलाओं सहित समाज के सभी वर्गाें एवं जातियों को बिना किसी भेदभाव के लाभान्वित किया है। 

मुख्यमंत्री आज यहां ‘जनेश्वर मिश्र हाॅर्टीफेयर-2015’ के समापन अवसर पर अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। गोमती नगर विस्तार स्थित जनेश्वर मिश्र पार्क में आयोजित हाॅर्टीफेयर मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव के क्लीन, ग्रीन और प्रास्परस लखनऊ के विजन को ध्यान में रखते हुए लखनऊ विकास प्राधिकरण द्वारा सूचना विभाग, पर्यटन विभाग एवं संस्कृति विभाग के सहयोग से आयोजित किया गया था। विभिन्न राज्यों के पवेलियन, आयातित पौधों का प्रदर्शन, बोनसाई शो, शादी मण्डप आदि हाॅर्टीफेयर के मुख्य आकर्षण थे। उद्यान विभाग, पुलिस अभिसूचना, पी0ए0सी0 महानगर, लखनऊ नगर निगम सहित एन0बी0आर0आई0, सीमैप, सेन्ट्रल कमाॅण्ड आदि संस्थाओं ने हाॅर्टीफेयर में हिस्सा लिया। मुख्यमंत्री ने हाॅर्टीफेयर के दौरान आयोजित विभिन्न प्रदर्शनियों एवं प्रतियोगिताओं के विजेताओं को पुरस्कार वितरित किए तथा स्मारिका ‘जनेश्वर मिश्र हाॅर्टीफेयर-2015’ का विमोचन भी किया। उन्होंने युवाओं का आह्वान किया कि वे समाजवाद के सिद्धान्तों एवं डाॅ0 राम मनोहर लोहिया और जनेश्वर मिश्र जैसे समाजवादी चिंतकों की विचारधारा से परिचित हों और उसे आगे बढ़ाएं।

वर्तमान में देश मंे भूमि अधिग्रहण को लेकर चल रही चर्चा का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि उनका अनुभव है कि किसान विकास के खिलाफ नहीं है। लेकिन विकास उनकी आजीविका का साधन छीनकर नहीं होना चाहिए। भूमि अधिग्रहण में किसान की सहमति जरूरी है। उन्होंने कहा कि 300 किमी0 लम्बा आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे देश का सबसे लम्बा एक्सप्रेस-वे है। राज्य सरकार को इसके लिए भूमि अधिग्रहण में कोई दिक्कत पेश नहीं आयी बल्कि किसानों को सहयोग मिला। क्योंकि सरकार ने सहमति और सहूलियत से भूमि अधिग्रहण की कार्यवाही की। एक्सप्रेस-वे के दो साल में तैयार होने का भरोसा जताते हुए उन्होंने कहा कि इस परियोजना के पूरे हो जाने पर न केवल यात्रा समय में कमी आएगी, बल्कि इसके इर्द-गिर्द मण्डियां तथा उद्योग भी विकसित किए जाएंगे, जिनसे रोजगार भी पैदा होंगे। 

श्री यादव ने कहा कि प्रदेश सरकार आवश्यक अवस्थापना सुविधाओं जैसे सड़क, पुल, आर0ओ0बी0 इत्यादि के निर्माण पर विशेष ध्यान दे रही है। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे, लखनऊ मेट्रो रेल, नया हाईकोर्ट परिसर, लखनऊ हाट, सी0जी0 सिटी, गोमती नदी की सफाई एवं रिवरफ्रण्ट का विकास, अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम, कैंसर अस्पताल, साइकिल टैªक, जयप्रकाश नारायण अन्तर्राष्ट्रीय केन्द्र आदि परियोजनाओं का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि ये परियोजनाएं लखनऊ जनपद से सम्बन्धित हैं, जिनका विकास प्रदेश सरकार द्वारा किया जा रहा है। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार की निःशुल्क लैपटाॅप वितरण योजना की आलोचना करने वाले लोग अब मुफ्त वाई-फाई दे रहे हैं। उन्होंने सवाल किया कि बिना लैपटाॅप के वाई-फाई क्या करेगा। उन्होंने कहा कि ‘108’ समाजवादी स्वास्थ्य सेवा तथा ‘102’ नेशनल एम्बुलेन्स सर्विस का लाभ गरीबों को मिल रहा है। इन सेवाओं की सफलता को देखते हुए राज्य में 500 और नई एम्बुलेन्स चलाई जाएंगी। उन्होंने कहा कि इन एम्बुलेन्स सेवाओं की भांति ही कम समय में रिस्पाॅन्स देने वाली पुलिस की प्रभावी सेवा भी प्रदेशवासियों को शीघ्र ही मुहैया कराई जाएगी।

Lucknow, Uttar Pradesh, India