निमेष आयोग रिपोर्ट पर कार्यवाही मे देरी इंसााफ का खून

निमेष आयोग रिपोर्ट पर कार्यवाही मे देरी इंसााफ का खून

मौलाना रज़्ज़ाकी ने सपा सरकार को याद दिलाये मुसलामानों से किये वादे 

साहिबाबाद: उलेमा काउंसिल के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना एजाज़ अहमद रज़्ज़ाकी ने सच्चर समिति की रिपोर्ट, 18 प्रतिशत मुस्लिम आरक्षण, दंगा रोकने के लिये ठोस कानून की व्यवस्था, मुज़़फ्फरनगर दंगा पीड़ितों के साथ न्याय आदि वादे जो समाजवादी पार्टी ने मुसलमानों से विधानसभा चुनाव के समय किये थे याद दिलाये । वादों कों याद दिलाते मौलाना एजाज़ अहमद रज़्ज़ाकी ने आगे कहा की निमेष आयोग की रिपोर्ट पर तुरंत कार्यवाही करते हुये बेगुनाहों की रिहाई तथा दोषी पुलिस कर्मियों को सजा मिलनी चाहिये।  एजाज़ अहमद रज़्ज़ाकी चमन स्टेट में उलेमा काउंसिल की एक बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने आगे कहा की  प्रदेश सरकार द्वारा मुसलमानों से संबंधित किये गये 14 वादों की पूर्ति में हो रही देरी से इससे  समुदाय में काफी बेचैनी पाई जा रही है उलेमा काउंसिल के राष्ट्रीय महासचिव मौलाना के0 ज़ेड़ बुखारी ने अपने संबोधन में कहा की 3 वर्षो  के कार्यकाल में सरकार ने अपने तमाम वादे पूरे कर दिये परंतु मुस्लिमों से संबंधित 14 वादे आज भी अधूरे हैं बुखारी ने प्रदेश सरकार से मांग करते हुये कहा की यदि सरकार मुस्लिम हितैषी  है तो तुरंत इन वादों को पूरा करे।  बैठक की अध्यक्षता मौलाना इस्लामुद्वीन ने की, इस अवसर पर मुफ़्ती कासमी , मौलाना शहजा़द, प्रधान सगीर, रियाज अलवी , मिर्जा तौसीफ़ बैग , मौलाना यूसफ, मौलाना शौकीन, चौ0  शेरे नबी चमन मौलाना मो0 सलाीम आदि ने भाग लिया।

Uttar Pradesh, India