मैक्सवेल के तूफान को पार नहीं कर सके श्रीलंकाई

मैक्सवेल के तूफान को पार नहीं कर सके श्रीलंकाई

AUS ने श्रीलंका को 64 रनों से हराया स्कोर

सिडनी। ऑस्ट्रेलिया ने सिडनी क्रिकेट मैदान (एससीजी) में खेले गए आईसीसी वर्ल्ड कप-2015 के पूल-ए मुकाबले में श्रीलंका को 64 रनों से हरा दिया। ग्लेन मैक्सवेल (102) के नेतृत्व में अपने बल्लेबाजों के धारदार प्रदर्शन की बदौलत कंगारुओं ने श्रीलंका के सामने सामने 377 रनों का लक्ष्य रखा था। श्रीलंका 9 विकेट पर 312 रन ही बना सकी। श्रीलंका की ओर से संगकारा ने सबसे ज्यादा 104 रनों की पारी खेली।

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए मेजबान टीम ने निर्धारित 50 ओवरों में नौ विकेट पर 376 रन बनाए। मैक्सवेल ने वर्ल्ड कप इतिहास का दूसरा सबसे तेज शतक लगाया। यह उनके करियर का पहला शतक है। मैक्सवेल ने 53 गेंदों का सामना कर 10 चौके और चार छक्के लगाए। उन्होंने 51 गेंदों पर सैकड़ा पूरा किया।

मैक्सवेल के अलावा स्टीवन स्मिथ ने 72, कप्तान माइकल क्लार्क ने 68 और शेन वॉटसन ने 67 रनों का योगदान दिया। 41 रन के कुल योग पर एरॉन फिंच (24) और डेविड वॉर्नर (9) का विकेट गिरने के बाद स्मिथ और क्लार्क ने तीसरे विकेट के लिए 134 रनों की साझेदारी की।

क्लार्क का विकेट 175 के कुल योग पर गिरा। क्लॉर्क ने 68 गेदों पर छह चौके लगाए। स्मिथ 177 के कुल योग पर आउट हुए। स्मिथ ने 88 गेंदों का सामना कर सात चौके और एक छक्का लगाया।

इसके बाद मैक्सवेल और वॉटसन ने पांचवें विकेट के लिए 160 रनों की साझेदारी की। यह साझेदारी 13.4 ओवरों का नतीजा रही। दोनों ने 11.70 के औसत से रन बटोरे।

मैक्सवेल ने पहले 26 गेंदों पर अर्धशतक पूरा किया और फिर 51 गेंदों पर शतक लगाया। यह वर्ल्ड कप इतिहास में दूसरा सबसे तेज शतक है। आयरलैंड के केविन ओब्रायन के नाम 50 गेंदों पर शतक लगाने का रिकॉर्ड है। ओब्रायन ने 2011 वर्ल्ड कप में इंग्लैंड के खिलाफ यह कारनामा किया था।

मैक्सवेल का विकेट 337 के कुल योग पर गिरा। एक रन जुड़ने के बाद जेम्स फॉल्कनर (0) भी रन आउट हो गए लेकिन इसके बाद वॉटसन ने ब्रैड हेडिन (25) के साथ सातवें विकेट के लिए 30 रन जोड़े। वॉटसन 41 गेंदों का सामना करने के बाद छह चौके और दो छक्के लगाकर आउट हुए।

यह विकेट 368 के कुल योग पर गिरा। पारी के अंतिम ओवर की तीसरी गेंद पर थिसिरा परेरा ने हेडिन को एंजेलो मैथ्यूज के हाथों कैच कराया। हेडिन ने नौ गेंदों पर चार चौके और एक छक्का लगाया। फिर अगली ही गेंद पर मिशेल स्टार्क (0) रन आउट हो गए।

अंतिम पांच ओवरों में ऑस्ट्रेलिया ने 56 रन बनाए और पांच विकेट गंवाए। श्रीलंका की ओर से लसिथ मलिंगा और परेरा ने 2-2 विकेट लिए जबकि मैथ्यूज, सेकुगे प्रसन्ना और तिलकरत्ने दिलशान को एक-एक सफलता मिली।

दोनों टीमों का यह पांचवां मैच है। श्रीलंका के फिलहाल चार मैचों से छह जबकि ऑस्ट्रेलिया के इतने ही मैचों से पांच अंक हैं। दोनों ही टीमें अकतालिका में न्यूजीलैंड (8 अंक) से नीचे क्रमश: दूसरे और तीसरे स्थान पर मौजूद हैं।

श्रीलंका 1996 के फाइनल के बाद से ऑस्ट्रेलिया को वर्ल्ड कप में कभी नहीं हरा सका है। श्रीलंकाई टीम के लिए हालांकि सिडनी का अनुभव पूर्व में अच्छा साबित हुआ है और उसे यहां खेले अंतिम आठ एकदिवसीय मुकाबलों में छह में जीत मिली है।