राहुल, प्रियंका बोले- हम सभी को कोरोना को हराना है

राहुल, प्रियंका बोले- हम सभी को कोरोना को हराना है

नई दिल्लीः कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कोरोना वायरस के संकट से निपटने में जुटे स्वास्थ्यकर्मियों एवं अन्य लोगों का आभार प्रकट करते हुए मंगलवार को कहा कि सभी लोगों को सरकार के दिशानिर्देशों का पालन करते हुए सामाजिक मेलजोल से दूर रहना चाहिए।

उन्होंने एक संदेश में लोगों से यह अपील भी की कि वे संकट के इस समय में समाज के कमजोर लोगों, दिव्यांगों और बुजुर्गों की हर संभव मदद करें। गांधी ने कहा, ‘‘सिंगापुर, दक्षिण कोरिया और ताइवान जैसे कुछ देशों ने लोगों को सामाजिक मेलजोल से दूर रखकर और बड़े पैमाने पर जांच करके कारोना पर नियंत्रण करने में सफलता हासिल की है।

भारत में अगले तीन-चार हफ्ते अहम हैं और इस महामारी से निपटने के लिए जीवनशैली में तत्काल बदलाव की जरूरत है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘सामाजिक रूप से अलग रहने का मतलब छुट्टियां मनाना नहीं है। गैरजरूरी यात्राओं और सामाजिक मेलजोल से कोरोना का खतरा बढ़ेगा।’’ कांग्रेस नेता ने कहा कि लोगों को अपने तहत काम करने वालों को वैतनिक अवकाश देना चाहिए ताकि सभी की सुरक्षा हो सके।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने मंगलवार को उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के शहर एवं जिला अध्यक्षों को निर्देश दिया कि वे कोरोना वायरस के संकट को देखते हुए लोगों की मदद करें तथा इस संदर्भ में लोगों को सावधानी बरतने के लिए सतर्क करें। जिला एवं शहर कांग्रेस अध्यक्षों को लिखे पत्र में प्रियंका ने कहा, ‘‘कोरोना वायरस एक वैश्विक महामारी है। हमारा देश भी इसकी चपेट में आ गया है। उत्तर प्रदेश के कई शहरों में इस वायरस से लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है।

ऐसे में जरूरी है कि हम सब बहुत सतर्क और जागरूक रहें तथा इस विपत्ति से निपटने में एक दूसरे की मदद करें।’’ उन्होंने कहा ‘‘ अपने हर ब्लाक/वार्ड के चुनिंदा कार्यकर्ताओं को लेकर एक व्हाट्सएप ग्रुप बना लें ताकि हर ब्लाक/वार्ड की स्थितियों की जानकारी मिलती रहे। किसी व्यक्ति में बीमारी के लक्षण दिखते ही उसे जांच करवाने के लिए प्रेरित करें।’’ कांग्रेस महासचिव एवं उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका ने कहा, ‘‘किसी भी पीड़ित की जानकारी मिलने पर तुरंत संबंधित विभाग को सूचित करें ताकि किसी भी पीड़ित व्यक्ति को तत्काल मेडिकल सुविधा उपलब्ध करवाने में मदद की जा सके।

पीड़ित और उसके परिवार को कोरोना वायरस के संक्रमण के बारे में सही जानकारी और इससे बचने के नियमों की जानकारी व्हाट्सएप या फोन कॉल द्वारा पहुंचाएं। ब्लॉक/वार्ड के बुजुर्ग और बीमार व्यक्तियों की लिस्ट बनायें और उनकी खास मदद करें।’’

India