चीन ने पाकिस्तान के साथ हर हाल में खड़ा रहने की प्रतिबद्धता दोहराई

चीन ने पाकिस्तान के साथ हर हाल में खड़ा रहने की प्रतिबद्धता दोहराई

बीजिंग:चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने 17 मार्च को पेइचिंग में पाकिस्तान के राष्ट्रपति आरिफ अल्वी के साथ वार्ता की। जिसके दौरान पूरे विश्व में कोरोना वायरस से फैली महामारी को लेकर चर्चा की गई। इस दौरान चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंगपाकिस्तान के राष्ट्रपति आरिफ अल्वी को भरोसा दिलाया है कि चीन हमेशा किसी भी परिस्थिति में पाकिस्तान के साथ खड़ा रहेगा।

पाकिस्तान कीवेबसाइट dawn के मुताबिक पाक और चीन के रिश्ते पर राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने कहा, चाहे अंतरराष्ट्रीय स्थिति में कितनी भी बदल जाए, चीन हमेशा मजबूती के साथ पाकिस्तान के लिए खड़ा रहेगा। चीन पाकिस्तान के साथ मित्रता के लिए प्रतिबद्ध रहेगा और रणनीतिक सहयोग का विस्तार करेगा।

शी जिनपिंग ने कहा, चीन पाकिस्तान का अपनी राष्ट्रीय स्वतंत्रता, प्रभुसत्ता, प्रादेशिक अखंडता की रक्षा करने और अपनी राष्ट्रीय स्थिति के अनुसार, विकास के रास्ते पर आगे बढ़ने का समर्थन करता रहेगा।

वार्ता में पाकिस्तान के राष्ट्रपति अल्वी ने कहा कि कोरोना वायरस जैसे आपदा के सामने चीनी कम्युनिस्ट पार्टी और चीन सरकार ने अद्भुत नेतृत्वकारी शक्ति दिखाई है। चीनी जनता ने एकता के साथ बड़ी कोशिश की है। पाकिस्तान के राष्ट्रपति अल्वी ने कहा है कि कोरोना महामारी के लिए चीन को बदनाम किया जा रहा है। लेकिन लोगों की ये मंशा विफल हो जाएगी। पाकिस्तान हमेशा चीन का साथ देता रहेगा।

कोराना वायर का प्रकोप बढ़ने के बीच पाकिस्तान सरकार विश्वबैंक से 20 करोड़ डॉलर तक के कर्ज के लिये बातचीत कर रही है। नकदी संकट से जूझ रहा पाकिस्तान अपने 270 सरकारी अस्पतालों और प्रयोगशालाओं में क्षमता बढ़ाने के लिये यह कर्ज चाह रहा है ताकि खतरनाक कोरोना विषाणु के प्रसार को नियंत्रित किया जा सके। बुधवार को मीडिया की एक रिपोर्ट में यह कहा गया।