आई-लीग :  टीआरएयू एफसी पर जीत दर्ज कर चेन्नई सिटी ने शुरू किया विजय अभियान

आई-लीग : टीआरएयू एफसी पर जीत दर्ज कर चेन्नई सिटी ने शुरू किया विजय अभियान

कोयम्बटूर: मौजूदा चैम्पियन चेन्नई एफसी ने रविवार को यहां टीआरएयू एफसी को 1-0 से हराकर आई-लीग के 13वें संस्करण में खिताब बचाने की अपनी मुहिम का विजयी आगाज किया। चेन्नई सिटी के लिए मैच का एकमात्र गोल एडोल्फो मिरांडा अराउजो ने 49वें मिनट में किया।

बारिश के बीच जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम में हुए इस मैच में चेन्नई को अपने नए-नवेले खिलाड़ी मिरांडा की बदौलत तीन अंक प्राप्त हुए।

मैच की शुरुआत में चेन्नई सिटी ने दाएं से बाएं हमला करना शुरू किया। चेन्नई ने इस मैच में 3-4-3 का काम्बीनेशन आजमाया जबकि टीआरएयू एफसी ने 3-5-2 के साथ चेन्नई की चुनौती को स्वीकार किया।

पहला हाफ में टीआरएयू एफसी ने सधी शुरुआत की और कई अच्छे हमले किए। चेन्नई के रोबर्टो एस्लावा ने इस दौरान कुछ अच्छे बचाव किए। चेन्नई की टीम शांत रहकर माहौल बना रही थी और उसके नए खिलाड़ी कात्सुमी युसा ने धीरे-धीरे टीआरएयू एफसी के लिए समस्या खड़ी करनी शुरू कर दी।

शुरुआती 10 मिनट में चेन्नई की टीम लय में आती दिखी और इसका सबूत उस समय मिला, जब पेड्रो मांजी ने एक करीबी मामला बनाया लेकिन उनका हेडर पोस्ट के ऊपर से निकल गया।

30वें मिनट में चेन्नई के कप्तान मांजी ने चार्ल्स के क्रास पर पोस्ट को निशाना बनाकर एक शानदार हेडर लिया लेकिन दर्शकों को उस समय निराशा हाथ लगी, जब गेंद पोस्ट में नहीं घुस सकी।

पहले हाफ के अंतिम क्षणो में चेन्नई की टीम एक बार फिर गोल करने के करीब आई। इस बार युसा ने मूव बनाया और क्लोज रेंज से एक करारा शॉट लिया लेकिन गेंद पोस्ट के दूर से निकल गई।

चेन्नई की टीम पहले हाफ में टीआरएयू एफसी पर हावी रही लेकिन इसके बावजूद यह हाफ गोलरहित बराबरी पर समाप्त हुआ।

दूसरे हाफ में भी चेन्नई हमले जारी रखे। 49वें मिनट में उसे इसका फल मिला और वह 1-0 से आगे हो गया। टीआरएयू एफसी डिफेंस की गलती के कारण यह गोल हुआ और यह गोल करने का सौभाग्य चेन्नई के नए खिलाड़ी मिरांडा को मिला।

चेन्नई की टीम को इसके बाद दूसरा गोल करने का भी मौका मिला लेकिन वह सफल नहीं हो सकी। इस बार युसा ने एक शानदार क्रास लिया और पोस्ट के पास अनमार्क्ड खड़े मशहूर शरीफ गेंद को नियंत्रण में लेकर अच्छा शॉट नहीं ले सके और इस तरह उनके हाथ से लीग में पहला गोल करने का मौका निकल गया।

चेन्नई ने लगातार हमले किए लेकिन उसे और कोई सफलता नहीं मिली। मांजी को एक करीबी मामले में गुरप्रीत ने गोल करने से रोक दिया। मैच के खत्म होने में 15 मिनट थे और टीआरएयू एफसी ने दो बदलाव किए लेकिन उसे इसका कोई फायदा नहीं मिला। चेन्नई की टीम लगातार दबाव बनाए हुए थी।

मांजी ने एक और गोल के साथ मैच को समाप्त किया होता लेकिन गुरप्रीत ने दूसरी बार उन्हें गोल करने से महरूम कर दिया। हालांकि इसके बावजूद चेन्नई ने 49वें मिनट में हुए गोल को बचाए रखने में सफलता हासिल की और सीजन के पहले ही मैच में जीत दर्ज की।