महाराष्ट्र: शिवसेना की मांग, ढाई साल का लिखित वादा करे भाजपा

महाराष्ट्र: शिवसेना की मांग, ढाई साल का लिखित वादा करे भाजपा

मुंबई: महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के परिणाम आने के बाद बहुमत हासिल कर चुके राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. भारतीय जनता पार्टी की अगुवाई वाले एनडीए की राज्य में सहयोगी दल शिवसेना शर्तों से पीछे हटने का नाम नहीं ले रही है. शिवसेना नेता प्रताप सरनाइक ने शनिवार को कहा, 'हमने फैसला किया है कि बीजेपी हमें उनके प्रस्ताव के बारे में लिखित में दे.'

उन्होंने कहा कि 'अमित शाह सरीखे वरिष्ठ नेता हमें यह लिखित में दें. हम 50-50 फॉर्मूला चाहते हैं, जिसमें ढाई साल शिवसेना के सीएम रहे.' सरनायक ने आगे कहा कि पार्टी अध्यक्ष इस पर फैसला करेंगे कि डिप्टी सीएम कौन होगा. उन्होंने इस आशय की पुष्टि भी की कि शिवसेना के विधायकों ने एक लाइन का प्रस्ताव पास किया है कि सभी फैसले उद्धव ठाकरे करेंगे.

उद्धव ठाकरे द्वारा भाजपा के साथ सत्ता के समान बंटवारे के लिए नए सिरे से दावा किए जाने के बाद, शनिवार को शिवसेना के नव-निर्वाचित विधायकों ने मांग की कि अगली सरकार में आदित्य ठाकरे को मुख्यमंत्री बनाया जाए.

ठाणे शहर के विधायक प्रताप सरनाइक ने कहा, 'हम आदित्य ठाकरे को अगले मुख्यमंत्री के रूप में देखना चाहते हैं. लेकिन उद्धवजी अंतिम फैसला लेंगे.' एक अन्य विधायक अब्दुल सत्तार, जिन्होंने चुनावों से पहले कांग्रेस से शिवसेना में आए उन्होंने कहा, 'उद्धवजी इस पर अंतिम फैसला लेंगे.'