ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में सुधरी भारत की रैंकिंग

ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में सुधरी भारत की रैंकिंग

नई दिल्ली: विश्व बैंक की ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में भारत की रैकिंग में 14 पायदान का उछाल आया है। विश्व बैंक की गुरुवार को जारी रिपोर्ट के अनुसार भारत की रैकिंग सुधरकर 63वें स्थान पर पहुंच गई है। यही नहीं, बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले शीर्ष 10 देशों में भी भारत को लगातार तीसरी साल स्थान मिला है। भारत की रैकिंग में सुधार मुख्य रूप से इंसाल्वेंसी एंड बैंक्रप्सी कोड (आइबीसी) को लागू किए जाने से आया है। हालांकि अभी भारत शीर्ष 50 की सूची में स्थान पाने के सरकार के लक्ष्य से पीछे है।

पिछले साल 190 देशों की सूची में भारत 77वें स्थान पर रहा था। भारत को लगातार तीसरी बार रैंकिंग सुधार में सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाले शीर्ष दस देशों में भी स्थान मिला है। ग्लोबल रैंकिंग में न्यूजीलैंड पहला स्थान बरकरार रखने में सफल रहा है। सिंगापुर दूसरे और हांगकांग तीसरे स्थान पर रहे। कोरिया पांचवें और अमेरिका छठे स्थान पर रहा।

ईज ऑफ डूईंग बिजनेस की रैंकिंग ऐसे समय में आई है जब भारतीय रिजर्व बैंक, विश्व बैंक, आइएमएफ और अन्य एजेंसियों ने ग्लोबल अर्थव्यवस्था में सुस्ती के चलते भारत की विकास दर सुस्त करने का अनुमान जताया है। 2020 की ईज ऑफ डूइंग बिजनेस रिपोर्ट में विश्व बैंक ने भारत के सुधारों की तारीफ की है और कहा है कि सुधारों से उसकी अर्थव्यवस्था को फायदा मिलेगा।

विश्व बैंक के डायरेक्टर (डेवलपमेंट इकोनॉमिक्स) सायमॉन जेनकोव ने कहा कि लगातार तीसरी साल सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाले शीर्ष दस देशों में भारत जगह बनाने में सफल रहा है। इस रैंकिंग के 20 साल के दौर में ऐसी सफलता बहुत कम देशों को मिली है। बिना किसी अपवाद के ऐसा प्रदर्शन करने वाले देश बहुत छोटे और कम आबादी वाले रहे हैं। बड़ी आबादी वाले और विशाल देशों की बात करें तो भारत ऐसा पहला देश है जिसने इस साल 14 पायदान की छलांग लगाई है।

बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले शीर्ष दस देशों में भारत के अलावा चीन (31), बहरीन (43), सऊदी अरब (62), जॉर्डन (75), कुवैत (83), टोगो (97), ताजकिस्तान (106), पाकिस्तान (108) और नाइजीरिया (131) शामिल हैं।